Asian Games 2018: सुशील और साक्षी पर होगा कुश्ती टीम का भार

कुश्ती की स्पर्धाएं 19 अगस्त से शुरू हो कर 22 अगस्त तक चलेंगी. रविवार को पुरुष वर्ग में 57 किलोग्राम भारवर्ग, 65 किलोग्राम भारवर्ग, 74 किलोग्राम भारवर्ग, 86 किलोग्राम भारवर्ग और 97 किलोग्राम भारवर्ग की स्पर्धाएं खेली जाएंगी. 

Asian Games 2018: सुशील और साक्षी पर होगा कुश्ती टीम का भार
रेसलर सुशील कुमार और साक्षी मलिक. (फाइल फोटो)

जकार्ता(इंडोनेशिया): दो बार ओलम्पिक पदक जीतने वाले सुशील कुमार और रियो ओलम्पिक-2016 में भारत को कांस्य पदक दिलाने वाली महिला पहलवान साक्षी मलिक के नेतृत्व में भारतीय कुश्ती टीम 18वें एशियाई खेलों में ज्यादा से ज्यादा पदक लाने की कोशिश में होगी. एशियाई खेलों में कुश्ती की स्पर्धाएं रविवार से शुरू हो रही हैं और पहले ही दिन पांच स्पर्धाओं के पदक राउंड भी हैं. कुश्ती की स्पर्धाएं रविवार से शुरू हो कर 22 अगस्त तक चलेंगी. रविवार को पुरुष वर्ग में 57 किलोग्राम भारवर्ग, 65 किलोग्राम भारवर्ग, 74 किलोग्राम भारवर्ग, 86 किलोग्राम भारवर्ग और 97 किलोग्राम भारवर्ग की स्पर्धाएं खेली जाएंगी. 

सुशील पहले ही दिन 74 किलोग्राम भारवर्ग प्री स्टाइल स्पर्धा में उतरेंगे. वह कुश्ती में पुरुष वर्ग में भारत की पदक की सबसे बड़ी उम्मीद हैं. सुशील के नाम एशियाई खेलों में अभी तक सिर्फ एक ही पदक है जो उन्होंने 2006 में दोहा में खेले गए एशियाई खेलों में जीता था. इन खेलों में सुशील ने कांस्य पदक अपने नाम किया था. 
उनके अलावा 65 किलोग्राम भारवर्ग फ्री स्टाइल स्पर्धा में बजरंग पुनिया भी भारत की पदक की उम्मीद हैं. बजरंग ने पिछली बार 2014 में इंचियोन में खेले गए एशियाई खेलों में रजत पदक अपने नाम किया था. इस बार उनकी कोशिश अपने पदक का रंग बदलने की होगी. 

मैं एशियन गेम्स में कुछ साबित करने नहीं आया हूं : सुशील कुमार

57 किलोग्राम भारवर्ग में संदीप तोमर, 86 किलोग्राम भारवर्ग में पवन कुमार और 97 किलोग्राम भारवर्ग में सत्यव्रत कादयान पहले ही दिन अपनी किस्मत आजमाएंगे. अगले दिन पुरुष वर्ग में सिर्फ 125 किलोग्राम भारवर्ग में सुमित कुमार प्रतिस्पर्धा करेंगे. सोमवार से महिला वर्ग प्रीस्टाइल के मुकाबले शुरू होंगे. साक्षी इस दिन मैट पर उतरेंगी और 50 किलोग्राम भारवर्ग में किस्मत आजमाएंगी. साक्षी के अलावा जबकि विनेश 62 किग्रा भारवर्ग में मुकाबले में उतरेंगी. विनेश ने 2014 में कांस्य पदक अपने नाम किया था. 

साक्षी मलिक बोलीं- खाली हाथ लौटने पर लोगों का सामना कैसे करते हैं, सिर्फ हम ही जानते हैं

अन्य पहलवानों में पिंकी (53 किग्रा), पूजा ढांडा (57), दिव्या काकरान (68) और किरण (72) शामिल हैं. यह चारों पहली बार एशियाई खेलों में उतर रही हैं इसलिए पूरी कोशिश में होंगी की पदक लेकर आएं. 21 तारीख से ग्रीको रोमन की प्रतिस्पर्धाएं शुरू होंगी. ग्रीको रोमन में ज्ञानेंद्र (60 किलोग्राम भारवर्ग), मनीष (67 किलोग्राम भारवर्ग), गुरप्रीत सिंह (77 किलोग्राम भारवर्ग), हरप्रीत सिंह (87 किलोग्राम भारवर्ग), हरदीप (97 किलोग्राम भारवर्ग) और नवीन (125 किलोग्राम भारवर्ग) ने एशियाई खेलों के लिए क्वालीफाई कर लिया. 

(इनपुट-आईएएनएस)