चोट की वजह से शोएब के साथ वक्त बिता रहीं हैं सानिया

भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने रविवार को कहा कि घुटने की चोट ने उन्हें अपने क्रिकेटर पति शोएब मलिक के साथ अच्छा वक्त बिताने का मौका दिया है.

चोट की वजह से शोएब के साथ वक्त बिता रहीं हैं सानिया
भारतीय टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने रविवार को कहा कि घुटने की चोट ने उन्हें अपने क्रिकेटर पति शोएब मलिक के साथ अच्छा वक्त बिताने का मौका दिया है और वह इसका भरपूर लुत्फ ले रही हैं. सुपरटेक स्पोर्ट्स विलेज में टेनिस अकादमी की शुरुआत के मौके पर सानिया ने संवाददाताओं को सम्बोधित करते हुए यह बात कही. सानिया ने कहा कि एक फरवरी को उनके पति का 36वां जन्मदिन था और उन्हें इस बात की खुशी है कि इस दिन वे साथ-साथ थे. सानिया अपने करियर में अभी जिस तरह की चोट से परेशान हैं, उसे 'जम्पर्स नी' कहा जाता है. इस चोट के कारण वह साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन में भी हिस्सा नहीं ले सकीं. सानिया ने कहा, "कोई भी खिलाड़ी चोटिल नहीं होना चाहता. न ही वह कोई ग्रैंड स्लैम या फिर कोई अन्य टूर्नामेंट मिस करना चाहता है लेकिन मजबूरी में ऐसा करना पड़ता है. मेरे लिए यह ऊहापोह की स्थिति है. मेरे डॉक्टरों का कहना है कि ऑपरेशन के लिए अभी इंतजार करना होगा. इस चोट ने हालांकि मुझे अपने क्रिकेटर पति के साथ अच्छा वक्त बिताने का मौका दिया है और मैं इसका भरपूर लुत्फ ले रही हूं."

VIDEO: सानिया मिर्जा का अजब-गजब लुक, लहंगे के साथ पहने रनिंग शूज

दूसरे ग्रैंड स्लैम फ्रेंच ओपन में अपनी हिस्सेदारी को लेकर सानिया ने कहा कि अभी कह पाना मुश्किल है लेकिन चूंकी इस टूर्नामेंट में अभी तीन महीने का वक्त है, लिहाजा वह इसे लेकर उम्मीद रख सकती हैं. सानिया ने कहा कि कोर्ट पर वापसी के बाद वह किसके साथ जोड़ी बनाएंगे, यह अभी तय नहीं किया है. बकौल सानिया, "मैं अपने डॉक्टरों के अनुसार चलूंगी और अभी मुझे इंतजार करने के लिए कहा गया है. अगर मेरा ऑपरेशन होता है तो मुझे तीन-चार सप्ताह आराम करना होगा और फिर रीहैब होगा. इसके बाद मैं वापसी का डेडलाइन रख सकती हूं. मेरी इच्छा फ्रेंच ओपन खेलने की है लेकिन फिलहाल इस सम्बंध में मैं साफ-साफ कुछ नहीं कह सकती." 

भारत के लिए एशियाई खेलों में हिस्सा लेने की इच्छा पर सानिया ने कहा कि एशियाई खेलों में उन्होंने देश के लिए हमेशा पदक जीते हैं और एक बार फिर वह ऐसा करना चाहती हैं लेकिन यह तभी सम्भव है, जब उनका शरीर उन्हें इसकी इजाजत देगा.

इंडिया ओपन: पूर्व विश्व चैंपियन को हराकर फाइनल में पीवी सिंधु, आज अमेरिकी खिलाड़ी से मुकाबला

सानिया ने कहा, "मैंने 15 साल की उम्र में पहली बार एशियाई खेलों मे हिस्सा लिया था और देश के लिए खेलना मेरी प्राथमिकता रही है. मैंने एशियाई खेलों में हमेशा देश के लिए पदक जीता है और इस बार भी मैं इसकी उम्मीद रखती हूं. एशियाई खेलों में अभी काफी वक्त है और मैं अपनी फिटनेस को लेकर काफी आशान्वित हूं. उम्मीद है कि तब तक सबकुछ ठीक हो जाएगा."