बोपन्ना संग जोड़ी पर बोलीं सानिया- 'हमारी दोस्ती सिर्फ टेनिस तक नहीं'

सानिया मिर्जा और रोहन बोपन्ना भले ही बहुत अच्छे दोस्त हैं लेकिन अगले साल रियो ओलंपिक खेलों में इन दोनों की जोड़ी बनने के कयासों के बावजूद वे अगले सत्र में मिश्रित युगल टीम बनाने को लेकर जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं करना चाहते हैं।

बोपन्ना संग जोड़ी पर बोलीं सानिया- 'हमारी दोस्ती सिर्फ टेनिस तक नहीं'

नई दिल्ली : सानिया मिर्जा और रोहन बोपन्ना भले ही बहुत अच्छे दोस्त हैं लेकिन अगले साल रियो ओलंपिक खेलों में इन दोनों की जोड़ी बनने के कयासों के बावजूद वे अगले सत्र में मिश्रित युगल टीम बनाने को लेकर जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं करना चाहते हैं।

सानिया और बोपन्ना अंतरराष्ट्रीय प्रीमियर टेनिस लीग में इंडियन एसेस की तरफ से खेल रहे हैं और उन्होंने वर्तमान सत्र में अब तक केवल एक मिश्रित युगल मैच गंवाया है। उनकी दोस्ती कोर्ट के अंदर और बाहर साफ दिखती है और इसलिए उनसे आगामी सत्र में जोड़ी बनाने को लेकर कई सवाल किये गये। 

सानिया ने अपने साथी और करीबी दोस्त के बारे में कहा, 'जब मैं 14 साल की थी तो रोहन मेरा पहला जोड़ीदार था। हम होपमैन कप में भी साथ में खेले थे और मुझे लगता है कि हम आठ-नौ साल तक नहीं हारे। इतने सालों में हमने एक-दूसरे को अच्छी तरह से समझा है और एक-दूसरे के खेल का अनुमान अच्छी तरह से लगा सकते हैं।' 

उन्होंने कहा, 'हमारे रिश्ते की खूबसूरती यह है कि यह टेनिस तक ही सीमित नहीं है। वह कोर्ट के बाहर भी मेरा सर्वश्रेष्ठ दोस्त है, इसलिए यह मायने नहीं रखता कि मैं उसके साथ खेलती हूं या नहीं लेकिन हां हमने साथ में बहुत अच्छी टेनिस खेली है। मैं उसके साथ जोड़ी बनाना पसंद करूंगी।' 

बोपन्ना ने भी सानिया की बात से सहमति जताते हुए कहा कि वह ओलंपिक में लिएंडर पेस के साथ जोड़ी बनाने की संभावना को लेकर रोमानिया के फ्लोरिन मर्जिया के साथ अपनी जोड़ी नहीं तोड़ेंगे। बोपन्ना और मर्जिया ने इस सत्र में चार खिताब जीते। उन्होंने कहा, 'मैं जोड़ी नहीं तोड़ने जा रहा हूं। मुझे और लिएंडर को ओलंपिक में साथ खेलने के लिये अपनी रैंकिंग में सुधार करना होगा। वर्तमान रैंकिंग में हम मास्टर्स सीरीज में भी जगह नहीं बना सकते हैं।'