पाकिस्तान पर जीत के बाद बोले लिएंडर पेस- मुझे टीम में जगह नहीं मिलनी चाहिए थी...

भारत ने हाल ही में पाकिस्तान को डेविस कप में 4-0 से हराया. भारतीय जीत में लिएंडर पेस ने भी अहम भूमिका निभाई. 

पाकिस्तान पर जीत के बाद बोले लिएंडर पेस- मुझे टीम में जगह नहीं मिलनी चाहिए थी...
लिएंडर पेस ओलंपिक मेडल के साथ-साथ 18 ग्रैंडस्लैम खिताब (डबल्स) जीत चुके हैं. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: भारत ने हाल ही में पाकिस्तान को डेविस कप (Davis Cup) में 4-0 से हराया. भारतीय जीत में लिएंडर पेस ने भी अहम भूमिका निभाई. लिएंडर पेस (Leander Paes) ने जीत के बाद यह कहकर एक बहस को जन्म दे दिया कि उन्हें भारत की डेविस कप में जगह नहीं मिलनी चाहिए थी. आखिर हर खिलाड़ी का सपना अपने देश के लिए खेलना होता है. लिएंडर पेस ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन पर हर भारतीय खेलप्रेमी गर्व करता है. ऐसे में वे टीम में जगह ना मिलने संबंधी बयान क्यों दे रहे हैं. पेस ने यह बात खुद ही बताई. 

लिएंडर पेस ने कहा, ‘टीम के हित में यही है कि अब मुझे अगले साल नहीं खेलना चाहिए. अब मुझे डेविस कप की भारतीय टीम में जगह नहीं मिलनी चाहिए. 46 साल की उम्र में यह अच्छा होता कि युवा खिलाड़ियों ने मुझे बाहर कर दिया होता. अगर हम भविष्य के लक्ष्य को देखें तो युवा खिलाड़ी टीम के लिए महत्वपूर्ण हैं. यह वक्त युवाओं को मौका देने का है. मौका दिए जाने पर ही उन्हें अनुभव हासिल होगा.’ 

यह भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में कोई और नहीं, सिर्फ भारत ही दे सकता है मात: वॉन 

टीम के लिए खेलने के सवाल पर लिएंडर ने कहा, ‘मुझे जब भी खेलने के लिए बुलाया जाएगा, तब मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगा. लेकिन मैं यकीन के साथ नहीं कह सकता कि अगले साल भी ऐसा होगा. मुझे लगता है कि अब युवा खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने का वक्त आ गया है.’ 

यह भी पढ़ें: IPL Auction: 5 युवा बल्लेबाजों ने दी IPL 2020 में जोर की दस्तक, विराट पर लगेगी बड़ी बोली!

पाकिस्तान में खेलने के संबंध में पूछे गए सवाल पर लिएंडर ने कहा, ‘मैं अपने देश के लिए किसी भी परिस्थति में और किसी भी विपक्षी के खिलाफ खेलने को तैयार हूं. देश के प्रतिनिधि के तौर पर जब हम खेलते हैं तो मेरे लिए यह बात मायने नहीं रखती कि हम कहां खेल रहे हैं या किसके खिलाफ खेल रहे हैं. एआईटीए ने जब मुझे पूछा था कि क्या मैं इस्लामाबाद में खेलने को तैयार हूं तो मैंने हां कहा था. मैंने यह नहीं पूछा था कि क्यों, मैंने नहीं पूछा था कि स्थिति क्या है.’ 

यह भी पढ़ें: Ballon d'Or: मेसी ने रिकॉर्ड छठी बार जीता बैलन डी'ओर अवॉर्ड, रोनाल्डो पीछे छूटे 

बता दें कि महेश भूपति, रोहन बोपन्ना ने सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान जाने से इनकार कर दिया था. भारतीय टेनिस महासंघ (एआईटीए) ने भी सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए थे. इसके बाद भारत और पाकिस्तान का मुकाबला कजाकिस्तान के नूर-सुल्तान में खेला गया. पहले यह मैच पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में होना था. 

लिएंडर पेस ने भारत लौटने के बाद संकेत दिए कि वे जल्द ही अपने संन्यास पर फैसला ले सकते हैं. हालांकि, पेस बार-बार यह कहते रहे हैं कि वे अगला ओलंपिक खेलना चाहते हैं. अगला ओलंपिक अगले साल अगस्त में जापान में होना है. पेस ने इस मैच के आयोजन के लिए अखिल भारतीय टेनिस महासंघ (एआईटीए) तथा टीम के कप्तान रोहित राजपाल तथा कोच जीशान अली का शुक्रिया अदा किया.