पद्म श्री सम्मान पाने के बाद बोले सुनील छेत्री, ‘दबाव महसूस कर रहा हूं’
Advertisement
trendingNow1492911

पद्म श्री सम्मान पाने के बाद बोले सुनील छेत्री, ‘दबाव महसूस कर रहा हूं’

सुनील छेत्री पद्म श्री पाने वाले छठे भारतीय फुटबॉलर हैं. 

सुनील छेत्री का कहना है कि उन्हें यह समझने में समय लगेगा कि पद्म श्री पाने के मायने क्या हैं.’  (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: भारतीय फुटबाल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने शनिवार को कहा कि पद्म श्री सम्मान के लिए चुने जाने से वह ‘नर्वस’ हैं और अच्छे प्रदर्शन का ‘अतिरिक्त दबाव’ महसूस कर रहे हैं. अंतरराष्ट्रीय फुटबाल में मौजूदा खिलाड़ियों में क्रिस्टियानो रोनाल्डो के बाद सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय गोल करने वाले छेत्री इस साल पद्मश्री पाने वाले नौ खिलाड़ियों में से हैं. सुनील की इस उपलब्धि पर पूर्व कप्तान बाइचिंग भूटिया ने भी उनकी तारीफ करते हुए उन्हें बधाई दी. 

छेत्री ने कहा, ‘‘फिलहाल तो बिल्कुल खुशी का भाव है. इसे महसूस करने में समय लगेगा. यह समझने में समय लगेगा कि इसके मायने क्या हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हर व्यक्ति में कमियां होती हैं. मुझमें भी है. मैं इसे समझता हूं लेकिन बेहतर इंसान बनने की कोशिश करता हूं. मुझे लगता है कि मुझे दूसरों के लिए मिसाल बनना चाहिए.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यह अतिरिक्त दबाव अच्छा लग रहा है जो पद्मश्री सम्मान के साथ मिला है.’’ 

पद्म श्री पाने वाले छठे भारतीय फुटबॉलर हैं छेत्री
अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) द्वारा जारी बयान के मुताबिक, छेत्री से पहले दिवगांत गोस्तो पॉल, दिवंगत साइलेन मन्ना, पी.के. बनर्जी, चुनी गोस्वामी और बाइचुंग भूटिया को यह अवॉर्ड मिल चुका है.  भारत सरकार ने 70वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर 2019 पद्म पुरस्कार प्राप्त करने वाले नामों की घोषणा की थी इसमें  सुनील छेत्री के अलावा विश्व कप विजेता क्रिकेटर गंभीर, विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदकधारी पहलवान बजरंग पुनिया,  द्रोणावल्ली हरिका (शतरंज), शरत कमल (टेबल टेनिस), बोम्बाल्या देवी लैशराम (तीरंदाजी), अजय ठाकुर (कबड्डी) और प्रशांती सिंह (बास्केटबाल) को भी पद्म श्री से सम्मानित किया गया है.

बाइचुंग भूटिया ने छेत्री की तारीफ की   
छेत्री को अवॉर्ड मिलने पर भारतीय टीम के पूर्व कप्तान बाइचुंग भूटिया ने कहा, "मैंने जितने फुटबाल खिलाड़ी देखे हैं, उनमें से छेत्री सबसे संजीदा और एकाग्रता के साथ खेलने वाले खिलाड़ी हैं. मैं 15 साल से उन्हें अपनी आंखों के सामने आगे बढ़ते हुए देख रहा हूं. वह इस दौरान बेहद पेशेवर रहे." पूर्व कप्तान ने कहा, "उन्होंने जो हासिल किया है वह कड़ी मेहनत का नतीजा है. वह हमेशा जानते थे कि वह क्या चाहते हैं इसलिए वह एक खिलाड़ी के तौर पर उभरने में सफल हुए."

हाल ही में मेसी को पछाड़ा है छेत्री ने
छेत्री ने हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा गोल करने के मामले में अर्जेटीना के दिग्गज फुटबाल खिलाड़ी लियोनेल मेसी को पछाड़ा है. उन्होंने संयुक्त अरब अमिरात में खेले गए एएफसी एशियन कप में थाईलैंड के खिलाफ खेले गए मैच में मेसी के 65 गोल के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा. छेत्री के नाम कुल 67 गोल दर्ज हैं.

इसके अलावा भारत के तीसरे सर्वश्रेष्ठ नागरिक पुरस्कार ‘पद्म भूषण’ पाने वालों में पर्वतारोही बछेंद्री पाल एकमात्र खिलाड़ी रहीं.  बछेंद्री को साल 1984 में ही पद्मश्री से नवाजा जा चुका है. सरकार ने इस साल 112 विभूतियों को पद्म पुरस्कारों से नवाजा है जिसमें चार पद्म विभूषण, 14 पद्म भूषण और 94 पद्म श्री शामिल हैं. 

(इनपुट आईएएनएस/भाषा)

Trending news