अगले सत्र में दलीप ट्रॉफी को स्थगित करने का प्रस्ताव

बीसीसीआई की तकनीकी समिति ने अगले सत्र में अंतर-क्षेत्रीय दलीप ट्रॉफी को स्थगित करने की अनुशंसा की है। अगर भारतीय क्रिकेट बोर्ड की कार्यकारी समिति इस प्रस्ताव को मान लेती है तो 1961-62 से लगातार चल रही इस प्रतियोगिता को अगले सत्र में स्थगित किया जा सकता है।

अगले सत्र में दलीप ट्रॉफी को स्थगित करने का प्रस्ताव

मुंबई : बीसीसीआई की तकनीकी समिति ने अगले सत्र में अंतर-क्षेत्रीय दलीप ट्रॉफी को स्थगित करने की अनुशंसा की है। अगर भारतीय क्रिकेट बोर्ड की कार्यकारी समिति इस प्रस्ताव को मान लेती है तो 1961-62 से लगातार चल रही इस प्रतियोगिता को अगले सत्र में स्थगित किया जा सकता है।

बीसीसीआई की प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि अनिल कुंबले के नेतृत्व वाली तकनीकी समिति ने इस दौरान भारत में होने वाले टी-20 विश्व कप को ध्यान में रखते हुए इस आशय का प्रस्ताव दिया है। तकनीकी समिति की आज हुई बैठक में कई अन्य अहम निर्णय लिये गये जिसमें रणजी ट्रॉफी अंक प्रणाली में बदलाव का प्रस्ताव भी है जिससे कि टीमों को जीत दर्ज करने के लिए प्रेरित किया जा सके। इसके अतिरिक्त देवधर ट्रॉफी के प्रारूप में परिवर्तन कर इसे तीन टीमों की प्रतियोगिता बनाने की सिफारिश की गई है। अंतरराज्यीय एकदिवसीय प्रतियोगिता और मुश्ताक अली ट्रॉफी के प्रारूप में भी बदलाव की सिफारिश की गई है।

रणजी ट्रॉफी में प्रस्तावित बदलाव के बारे में बीसीसीआई ने कहा, पहली पारी में बढ़त हासिल करने पर तीन अंक और दूसरी टीम को एक अंक देने की मौजूदा प्रणाली को खत्म करने का प्रस्ताव रखा गया है। सिर्फ पहली पारी में गेंदबाजी और बल्लेबाजी करने वाली टीमों के लिए बोनस अंक प्रणाली भी शुरू करने का प्रस्ताव है।

इसमें कहा गया, पहले 85 ओवर में 300 रन बनाने वाली टीम और 85 ओवर में सात विकेट हासिल करने वाली टीम को एक बोनस अंक दिया जाएगा। हालांकि जीत दर्ज करने पर छह अंक और पात्र होने पर पहले ही तरह बोनस अंक देने की प्रणाली जारी रहेगी।

विज्ञप्ति के अनुसार, देवधर ट्रॉफी के मौजूदा प्रारूप में बदलाव का भी प्रस्ताव रखा गया है और इसमें तीन टीमें हिस्सा लेंगी जो विजय हजारे ट्रॉफी की विजेता के अलावा राष्ट्रीय चयनकर्ताओं द्वारा चुनी गई दो टीमें होंगी। इसमें कहा गया, एकदिवसीय अंतरराज्यीय सीनियर टूर्नामेंट और सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट के प्रारूप में भी बदलाव का प्रस्ताव है। इसके लिए मौजूदा क्षेत्रीय प्रणाली की जगह पूरे देश में चार ग्रुप बनाए जाने का प्रस्ताव है। तकनीकी समिति ने इसके अलावा अवैध गेंदबाजी एक्शन से निपटने के लिए बोर्ड द्वारा उठाए गए कदमों का भी स्वागत किया। कुंबले की अगुआई वाले पैनल ने साथ ही पिच तैयार करने की प्रक्रिया में भी सुधार की जरूरत का प्रस्ताव रखा।

विज्ञप्ति के अनुसार, समिति ने कुछ आयोजन स्थलों पर विकेट तैयार करने की प्रक्रिया पर चिंता जताई और इस प्रक्रिया में सुधार के लिए विभिन्न सुझाव दिए जिससे भविष्य में उचित सुधारवादी कदम उठाने में मदद मिलेगी।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.