आईपीएल नीलामी में जाने से रोके गए बीसीसीआई के शीर्ष अधिकारी

भारत के पूर्व नियंत्रक और महालेखा परीक्षक विनोद राय की अगुआई वाली प्रशासकों की समिति (सीओए) ने सोमवार को बेंगलुरु में होने वाली आईपीएल की खिलाड़ियों की नीलामी के दौरान बीसीसीआई के तीन शीर्ष अधिकारियों के मौजूद रहने पर रोक लगा दी है।

नई दिल्ली : भारत के पूर्व नियंत्रक और महालेखा परीक्षक विनोद राय की अगुआई वाली प्रशासकों की समिति (सीओए) ने सोमवार को बेंगलुरु में होने वाली आईपीएल की खिलाड़ियों की नीलामी के दौरान बीसीसीआई के तीन शीर्ष अधिकारियों के मौजूद रहने पर रोक लगा दी है।

सीओए ने बयान में कहा, ‘सीके खन्ना, अमिताभ चौधरी, अनिरूद्ध चौधरी और कोई भी अन्य व्यक्ति जो बीसीसीआई का पदाधिकारी होने के कारण आईपीएल संचालन परिषद का पदेन सदस्य होने का दावा करता है, वह आईपीएल खिलाड़ी नीलामी में हिस्सा लेने का अधिकारी नहीं है क्योंकि दो जनवरी 2017 के आदेश के अनुसार ऐसे लोगों के शपथ पत्र की वैधता से जुड़ा मामला अब भी माननीय उच्चतम न्यायालय के समक्ष लंबित है।’ 

खन्ना बीसीसीआई के सबसे वरिष्ठ उपाध्यक्ष हैं जबकि अनिरूद्ध कोषाध्यक्ष हैं। दूसरी तरफ अनिरूद्ध संयुक्त सचिव थे लेकिन सीओए के गठन के बाद इन सभी के अधिकार छीन लिए गए हैं।

समिति ने कहा कि आईपीएल संचालन परिषद के सिर्फ वही सदस्य नीलामी के दौरान मौजूद रह सकते हैं जो उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुसार डिस्क्वालीफाई नहीं हुए हैं।

सीओए ने कहा कि अगर आईपीएल संचालन परिषद में दो से अधिक पात्र अधिकारी नहीं होंगे तो वह 20 फरवरी 2017 को आईपीएल खिलाड़ी नीलामी के लिए विशिष्ट व्यक्तियों को जिम्मेदारी सौंप सकता है।

सोमवार को होने वाली खिलाड़ियों की नीलामी में 350 से अधिक खिलाड़ी हिस्सा लेंगे।