close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

US Open: दूसरे दौर में पहुंचे राफेल नडाल, सर्बिया के दुसान को दी मात

दूसरे दौर में नडाल का सामना जापान के तारो डेनियल या अमेरिका के टोमी पॉल में से किसी एक खिलाड़ी से होगा.

US Open: दूसरे दौर में पहुंचे राफेल नडाल, सर्बिया के दुसान को दी मात
नडाल ने लाजोविक को 7-6 (8-6), 6-2, 6-2 से मात दी. (PHOTO : PTI/30 August, 2017)

न्यूयॉर्क: शीर्ष वरीयता प्राप्त टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल ने सकारात्मक शुरुआत करते हुए साल के चौथे और अंतिम ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट अमेरिका ओपन के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया है. बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, पुरुष एकल वर्ग के पहले दौर में नडाल ने सर्बिया के दुसान लाजोविक को मात दी. बारिश के कारण आर्तुर एशे स्टेडियम में खेले गए इस मैच में स्पेन के स्टार खिलाड़ी नडाल ने लाजोविक को 7-6 (8-6), 6-2, 6-2 से मात दी.

दूसरे दौर में नडाल का सामना जापान के तारो डेनियल या अमेरिका के टोमी पॉल में से किसी एक खिलाड़ी से होगा. मैच के बाद अपने एक बयान में नडाल ने कहा, "शुरुआत में मैं कई बार अंकों पर नियंत्रण की कोशिश कर रहा था. पहले सेट में मुश्किल के बाद मैंने दूसरे और तीसरे सेट में आसानी से जीत हासिल की. पहला दौर कभी आसान नहीं होता, क्योंकि आप थोड़ी घबराहट महसूस करते हैं. हालांकि इसके बाद के सभी मैच शानदार होते हैं."

अमेरिकी ओपन के पहले राउंड में ही बाहर हुईं केर्बर
मौजूदा विजेता जर्मनी की एंजेलिक केर्बर को साल के चौथे एवं आखिरी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट अमेरिकी ओपन के महिला एकल वर्ग के पहले राउंड में ही उलटफेर का शिकार होना पड़ा. उन्हें जापान की नोजोमी ओसाका ने 6-3, 6-1 से मात दी.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, विश्व की 45वीं वरीयता प्राप्त ओसाका ने महज 64 मिनट तक चले मुकाबले में केर्बर को आसानी से मात दी. ओसाका ने मैच में 22 विनर्स लगाए. केर्बर 2005 के बाद से पहली ऐसी मौजूदा चैंपियन है जो अमेरिकी ओपन से पहले दौर में ही बाहर हो गईं.

जापान की खिलाड़ी ने कहा, "जब मैंने स्टेडियम में कदम रखा तो मैंने दर्शकों की आवाजें सुनीं और देखा की स्टेडियम कितना बड़ा है. मैं थोड़ी सहम गई थी लेकिन मैंने अपने आप को संभाल लिया."

उन्होंने कहा, "मैच में जब मैंने 4-1 की बढ़त ले ली थी, तब भी मुझे इस तरह का अहसास हुआ था लेकिन तब मैंने अपने आप से कहा कि मुझे बस खेलना है और दबाव को अपने ऊपर हावी नहीं होने देना है." उन्होंने कहा, "पिछले साल का अनुभव मेरे काम आया. मुझे ऐसा महसूस हो रहा था कि मैं जानती हूं कि शीर्ष खिलाड़ियों के सामने कैसे खेला जाता है.''