close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Football: मोहन बागान के ‘Fans’ की शर्मनाक हरकत; ईस्ट बंगाल का गेट उखाड़ा, देखें VIDEO

मोहन बागान ने कहा, ‘हमें घटना का पता चला. हम इस व्यवहार की निंदा करते हैं. हम घटना में हुए नुकसान का पूरा खर्च उठाने और गेट दोबारा बनाने का तैयार हैं.’

Football: मोहन बागान के ‘Fans’ की शर्मनाक हरकत; ईस्ट बंगाल का गेट उखाड़ा, देखें VIDEO
मोहन बागान के खिलाड़ी. (फोटो: IANS)

कोलकाता: मोहन बागान और ईस्ट बंगाल कोलकाता के दो ऐसे क्लब हैं, जिनकी प्रतिद्वंद्विता जगजाहिर है. कोलकाता में अक्सर भाई-भाई या पति-पत्नी भी अलग-अलग क्लबों का समर्थन करते नजर आते हैं. लेकिन कुछ प्रशंसक इस प्रतिद्वंद्विता को शर्मनाक स्थिति तक ले गए और इसके कारण मोहन बागान तक को उनकी निंदा करनी पड़ी. मोहन बागान के लिए शर्मिंदगी की यह स्थिति तब निर्मित हुई, जब उसके प्रशंसकों ने क्लब की जर्सी पहनकर ईस्ट बंगाल की 100वीं वर्षगांठ के मौके पर बनाए गए एक गेट को उखाड़ दिया. 

मोहन बागान ने एक बयान में कहा है, ‘सोशल मीडिया के माध्यम से हमें पता चला है कि कुछ समर्थक मोहन बागान की जर्सी पहने ईस्ट बंगाल की सौवीं वर्षगांठ के जश्न के मौके पर बनाए गए गेट को तोड़ रहे हैं. हम इस खराब व्यवहार की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं.’ क्लब ने कहा है कि वह इस घटना में हुए नुकसान का पूरा खर्च उठाने और इसे दोबारा बनाने का तैयार है. 

यह भी पढ़ें: कभी ‘टेररिस्ट’ कहे गए इस खिलाड़ी ने लिया संन्यास, दर्ज हैं 10 से ज्यादा वर्ल्ड रिकॉर्ड

क्लब ने कहा, ‘हमने ईस्ट बंगाल के महासचिव कल्याण मजूमदार को पत्र लिखा है और इस व्यवहार की निंदा की है. साथ ही उनसे गुजारिश की है कि वह गेट को दोबारा खड़ा करें जिसका खर्च हम उठाएंगे.’ बयान के मुताबिक, ‘इससे आगे भी हमने पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है ताकि कानून के मुताबिक कार्रवाई की जा सके.’
 

 

ट्विटर पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कुछ लोग मोहन बागान की जर्सी पहने ईस्ट बंगाल की सौवीं वर्षगांठ के मौके पर बनाए गए अस्थायी गेट को उखाड़ रहे हैं. ईस्ट बंगाल अपने 100 वर्ष पूरा करने का जश्न मना रहा है. 

कुछ दिन पहले ही ईष्ट बंगाल ने कोलकाता में एक कार्यक्रम किया था. इसमें कपिल देव और भाईचुंग भूटिया को सम्मानित किया गया था. तब भी मोहन बागान के कुछ समर्थकों ने कार्यक्रम का बहिष्कार करने की अपील की थी. हालांकि, तब कोई अप्रिय घटना नहीं हुई थी.