close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विजेंदर सिंह ने कहा,'राष्ट्रमंडल और विश्व खिताब के लिए चुनौती पेश करने को तैयार'

ल्यूक ने 30 मुकाबलों में 23 जीत दर्ज की हैं जिसमें आठ नाकआउट भी शामिल हैं. भारत के लिए ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले विजेंदर को साल का अंत जीत के साथ करने की खुशी है.

विजेंदर सिंह ने कहा,'राष्ट्रमंडल और विश्व खिताब के लिए चुनौती पेश करने को तैयार'
अफ्रीकी चैम्पियन को हराकर विजेंदर सिंह ने बरकरार रखा दोहरा खिताब. (फाइल फोटो)

जयपुर: भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने पेशेवर सर्किट में लगातार 10वीं जीत दर्ज करने के बाद कहा कि अब उनकी नजरें राष्ट्रमंडल और विश्व चैंपियनशिप खिताब पर टिकी हैं. विजेंदर ने कल रात पश्चिम अफ्रीकी मुक्केबाजी यूनियन के मिडिलवेट चैंपियन अर्नेस्ट अमुजू को सर्वसम्मत फैसले से हराकर अपना डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल और एशिया पैसीफिक मिडिलवेट खिताब बरकरार रखा. राष्ट्रमंडल सुपर मिडिलवेट खिताब फिलहाल ग्रेट ब्रिटेन के ल्यूक ब्लैकलेज के पास है जो 27 वर्षीय युवा प्रतिभावान मुक्केबाज हैं. ल्यूक ने 30 मुकाबलों में 23 जीत दर्ज की हैं जिसमें आठ नाकआउट भी शामिल हैं. भारत के लिए ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले विजेंदर को साल का अंत जीत के साथ करने की खुशी है.

सवाई मानसिंह स्टेडियम में अपना मुकाबला जीतने के बाद विजेंदर ने कहा, ‘‘साल का अंत जीत के साथ करने की खुशी है. मैं अब अगले साल कम से कम दो खिताबों- राष्ट्रमंडल और विश्व खिताब को लेकर उत्सुक हूं. इस मुकाबले को सफल बनाने के लिए मैं जयपुर के लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं और पूरे भारत के मेरे प्रशंसकों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह मुकाबला जीतकर मैं काफी खुश हूं. मुझे पता है कि वह कड़ा फाइटर हैं और यही कारण है कि मुकाबला 10 राउंड तक चला. लेकिन मैं अपने कोचों द्वारा बनाई रणनीति पर कायम रहा और इससे मुझे यह मुकाबला जीतने में मदद मिली.’’

यह भी पढ़ें: गिलक्रिस्ट इस खिलाड़ी से हुए इतने इंप्रेस कि बदल डाली अपनी प्रोफाइल पिक्चर

पाकिस्तानी ब्रिटिश मुक्केबाज आमिर खान की चुनौती के बारे में पूछने विजेंदर ने कहा कि जवाब देने का समय आ गया है. उन्होंने कहा, ‘‘वह कहता रहा है कि उसके पास दो विश्व खिताब हैं, अब मेरे पास भी दो विश्व खिताब हैं, इसलिए हमारे बीच मुकाबला होना चाहिए. अलग अलग वजन वर्ग में होने के बावजूद मुकाबले का आयोजन किया जा सकता है. विभिन्न वजन वर्ग के मुक्केबाजों के बीच बाउट हमने देखी हैं.’’ अमुजू के खिलाफ मुकाबले के संदर्भ में विजेंदर ने कहा कि 10 राउंड के मुकाबले के दौरान वह कुछ मौकों पर परेशानी में घिरे और उन्होंने इससे लिए घाना के अपने प्रतिद्वंद्वी की तारीफ भी की.

यह भी पढ़ें: दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टीम इंडिया को ये कमजोरी पड़ सकती है भारी

उन्होंने कहा, ‘‘वह कड़ा प्रतिद्वंद्वी है, मैं उसे नाकआउट करने के मौके तलाशता रहा लेकिन वह टिका रहा. मुझे स्वीकार करना होगा वह स्तरीय मुक्केबाज है. शुरुआती राउंड के बाद मैं समझ गया था कि यह मुकाबला लंबा होने वाला है.’’ विजेंदर ने इन सुझावों को भी खारिज किया कि कम रैंकिंग के कारण अमुजू मजबूत प्रतिद्वंद्वी नहीं था. विजेंदर के प्रमोटर आईओएस के नीरव तोमर को भी आमिर साथ मुकाबले की उम्मीद है. उन्होंने कहा, ‘‘हमने पहले भी इस तरह के मुकाबले देखे हैं जैसे मेवेदर और पैकियाओ के बीच. इसलिए विजेंदर और आमिर के बीच मुकाबला क्यों नहीं हो सकता. हम इस पर काम कर रहे हैं और उम्मीद करते हैं कि यह मुकाबला होगा.’’