कोहली को कोहली ही रहने दो, तेंदुलकर से उसकी तुलना करना गलत: जोंटी रोड्स

भारतीय टीम में उनके पसंदीदा क्षेत्ररक्षक के बारे में पूछे जाने पर रोड्स ने कहा, ‘युवराज सिंह और मोहम्मद कैफ भारत के बेहतरीन क्षेत्ररक्षक रहे हैं.'

कोहली को कोहली ही रहने दो, तेंदुलकर से उसकी तुलना करना गलत: जोंटी रोड्स
जोंटी रोड्स ने कहा, 'तेंदुलकर, तेंदुलकर हैं और विराट (कोहली), विराट हैं. दोनों कमाल के खिलाड़ी हैं.’ (फाइल फोटो)

चेन्नई: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर जोंटी रोड्स ने बुधवार (9 अगस्त) को कहा कि मास्टर बलास्टर सचिन तेंदुलकर की तुलना मौजूदा भारतीय कप्तान विराट कोहली से करना गलत है. एक कार्यक्रम में यहां पहुंचे रोड्स ने कहा कि दोनों क्रिकेटर अपने-अपने तरीके से महान हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं रिकॉर्ड पर विश्वास नहीं करता हूं. मैं अलग-अलग दौर में क्रिकेट खेलने वाले खिलाड़ियों की तुलना नहीं करना चाहूंगा. तेंदुलकर, तेंदुलकर हैं और विराट (कोहली), विराट हैं. दोनों कमाल के खिलाड़ी हैं.’ यह पूछे जाने पर कि क्या कोहली तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं, रोड्स ने कहा, ‘तेंदुलकर ने करियर का आगाज महज 16 वर्ष की उम्र में किया था और वह 40 साल की उम्र तक खेले. 24 वर्षों के लंबे करियर में उन्होंने कई कीर्तिमान अपने नाम किये. आज के दौर में जितना क्रिकेट खेला जा रहा है मुझे नहीं पता कोहली कितने लंबे समय तक क्रिकेट खेलेंगे.’

कोहली की तारीफ करते हुये उन्होंने कहा, ‘विराट ने अपनी करियर का आगाज शानदार तरीके से किया है. जिस तरह से वह रन बना रहे है वह अपने आप में अद्भुत है. कम उम्र में उन्होंने रनों का अंबार लगाया है. कोहली को कोहली ही रहने दो और तेंदुलकर से उनकी तुलना नहीं की जानी चाहिये.’ अपने समय के सबसे बेहतरीन क्षेत्ररक्षक रहे रोड्स से भारतीय टीम में उनके पसंदीदा क्षेत्ररक्षक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘युवराज सिंह और मोहम्मद कैफ भारत के बेहतरीन क्षेत्ररक्षक रहे हैं. कोहली भी ठीक-ठाक हैं, लेकिन मेरे मुताबिक सुरेश रैना अभी भारतीय टीम के सबसे अच्छे क्षेत्ररक्षक हैं. रैना हमेशा गेंद तक पहुंचने की कोशिश करते हैं. वह मुझे अपने क्रिकेट के दिन याद दिलाते हैं.’

टेस्ट क्रिकेट के भविष्य के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि टी-20 क्रिकेट की लोकप्रियता से टेस्ट क्रिकेट को कोई खतरा नहीं है. इससे 50 ओवर के प्रारूप को खतरा है. उन्होंने कहा, ‘टी-20 क्रिकेट ने क्रिकेट खेलने का तरीका बदल दिया है और अब टेस्ट क्रिकेट में भी खिलाड़ी ज्यादा खुल कर खेलते है, उन्हें असफलता का डर नहीं.’ रोड्स ने कहा, ‘जब मैं क्रिकेट खेलता था खिलाड़ी शतक के करीब आ कर नर्वस हो जाते थे, लेकिन अब वे निडर हैं और चौका या छक्का लगा कर शतक पूरा करना चाहते हैं.' आईपीएल में मुंबई इंडियंस के क्षेत्ररक्षण कोच रोड्स तमिलनाडु क्रिकेट प्रीमियर लीग (टीएनपीएल) की टीम रुबी त्रिची वॉरियर्स के साथ मेंटर के तौर पर जुड़े हैं.