गोरखपुर मामले पर सहवाग के ट्वीट को देखकर भड़के लोग- कहा- शर्म करो

मीडिया रिपोटर्स के मुताबिक ऑक्‍सीजन सप्‍ताई के करीब 69 लाख रुपये का भुगतान नहीं होने के कारण कंपनी की तरफ से ऑक्सीजन सप्लाई बंद कर दी गई थी. इस कारण ही बच्‍चों की मौत हुई है.

गोरखपुर मामले पर सहवाग के ट्वीट को देखकर भड़के लोग- कहा- शर्म करो
गोरखपुर मामले में वीरेंद्र सहवाग का ट्वीट देख भड़के लोग

नई दिल्ली : गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज (BRD Medical College) में पिछले पांच दिनों में ऑक्सीजन की कमी के कारण अब तक 63 बच्चों की मौत हो चुकी है. जान गंवाने वालों में पांच नवजात भी हैं. पिछले 48 घंटों में ही 33 बच्चों की मौत हुई है. जिलाधिकारी राजीव रौतेला ने शुक्रवार को 30 बच्‍चों की मौत होने की बात कही थी. रौतेला ने पिछले दो दिन में हुई मौतौं का ब्‍योरा देते हुए बताया था कि 'नियो नेटल वार्ड' में 17 बच्चों की मौत हुई जबकि 'एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिन्ड्रोम यानी एईएस' वार्ड में पांच तथा जनरल वार्ड में आठ बच्चों की मौत हुई है. इस मामले में टीम इंडिया के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाह ने ट्वीट किया है, जिसके बाद उन्हें ट्रोल किया जा रहा है.  

वीरेंद्र सहवाग ने अपने टि्वटर हैंडल पर कुछ ऐसा लिख दिया कि लोगों ने उनकी जमकर खिंचाई कर डाली. सहवाग ने ट्वीट किया गोरखपुर में मामूस की जिंदगियों के जाने का बहुत गहरा दुख है. अब तक 50 हजार से ज्यादा बच्चे इंसेफेलिटीस नाम की बीमारी के कारण अपनी जिंदगी खो चुके हैं. 

इसके साथ ही सहवाग ने एक और ट्वीट कर लिखा पहला मामला 1978 में सामने आया था, इसी साल मेरा जन्म हुआ था। मासूमों की जिंदगी बचाने के लिए हम अभी तक इस बीमारी की जड़ नहीं खोज़ पाए हैं। दिल टूट गया।

सहवाग के इस ट्वीट पर कई लोग उनकी जमकर खिंचाई कर रहे हैं औरर आलोचना भी कर रहे हैं.

मीडिया रिपोटर्स के मुताबिक ऑक्‍सीजन सप्‍ताई के करीब 69 लाख रुपये का भुगतान नहीं होने के कारण कंपनी की तरफ से ऑक्सीजन सप्लाई बंद कर दी गई थी. इस कारण ही बच्‍चों की मौत हुई है.

हालांकि अस्पताल प्रशासन और उत्‍तर प्रदेश सरकार के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने ऑक्सीजन की कमी होने से इंकार किया है. यूपी सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि किसी भी बच्‍चे की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण नहीं हुई है. मीडिया में इसको लेकर भ्रामक खबरें चलाई जा रही हैं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.