शीतकालीन ओलंपिक में बढ़ रहा है डोपिंग का साया, तीसरा मामला आया सामने

शीतकालीन ओलंपिक से पहले ही डोपिंग को लेकर काफी चर्चाएं विवाद हो चुके हैं. तमाम इंतजामों के बावजूद इस बार अब तक डोपिंग के तीन मामले सामने आ चुके हैं. 

शीतकालीन ओलंपिक में बढ़ रहा है डोपिंग का साया, तीसरा मामला आया सामने
शीतकालीन ओलंपिक में डोपिंग का तीसरा मामला आइस हॉकी का सामने आया है. (फोटो : IANS)

प्योंगचांग : दक्षिण कोरिया में चल रहे शीतकालीन ओलंपिक में डोपिंग का साया बढ़ता दिखाई दे रहा है. हाल ही में इन खेलों में डोपिंग का तीसरा मामला सामने आया है.  स्लोवेनिया के आइस हाकी खिलाड़ी जिगा जेगलिक ड्रग परीक्षण में नाकाम रहे और उन्हें निलंबित कर दिया गया है लेकिन दिन की सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरी कनाडा की टेसा वर्चू और स्कॉट मोइर की जोड़ी ने जिन्होंने रिकार्ड प्रदर्शन से आइस डांस का स्वर्ण पदक जीता. जिगा जेगलिक इस ओलंपिक में डोपिंग में नाकाम रहने वाले तीसरे खिलाड़ी हैं.

खेल पंचाट (सीएएस) ने आज यह जानकारी दी. इससे पहले कर्लिंग स्पर्धा में रूस के कांस्य पदक विजेता खिलाड़ी और जापान के शॉर्ट ट्रैक स्पीड स्केटर को डोपिंग में नाकाम रहने के बाद ओलंपिक से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया.

A positive case of Doping in Ice Hockey event
प्योंगचांग में आइस हॉकी स्पर्धा में डोपिंग का एक मामला सामने आया (फोटो साभार : Reuters)

सीएएस ने अपने बयान में कहा कि जेगलिक का परीक्षण प्रतिबंधित फेनोटेरोल के उपयोग के लिये पाजीटिव पाया गया और इसके बाद उन्हें 24 घंटे के अंदर खेल गांव छोड़ने के लिये कहा गया. फेनोटेरोल को सांस संबंधी बीमारी के उपचार के लिये उपयोग किया जाता है.

विंटर ओलंपिक: गोल्ड मेडल जीतकर भावुक हुईं शिफ्रिन, फिगर स्केटरों का विश्व रिकॉर्ड

सीएएस ने कहा ‘‘जेगलिक ने डोपिंगरोधी नियमों के उल्लंघन को स्वीकार कर दिया है और उन्हें वर्तमान शीतकालीन ओलंपिक खेलों के बाकी मैचों से निलंबित कर दिया गया है.’’ 

खुद का ही तोड़ा रिकॉर्ड

वैंकुवर 2010 की चैंपियन टेसा वर्चू और स्कॉट मोइर की जोड़ी को फ्रांस की गैब्रिएला पापदाकिस और गुइलायुम सिजरोन से कड़ी चुनौती मिली जिन्होंने फ्री डांस में खुद का रिकार्ड तोड़ा. लेकिन वर्चू और मोइर ने स्केटिंग में पूरा दम लगाया और 122.40 अंक बनाकर जीत सुनिश्चित की. इन दोनों का कुल स्कोर 206.07 अंक रहा और उन्होंने फ्रांसीसी जोड़ी (205.28 अंक) को बेहद करीबी अंतर से हराया.

Gold medalists in the ice dance, free dance figure skating Tessa Virtue and Scott Moir, of Canada
कनाडा की टेसा वर्चू और स्कॉट मोइर की जोड़ी ने आइस डांस का स्वर्ण पदक जीता (फोटो साभार PTI)

वर्चू ने कहा, ‘‘शानदार. सबसे खास पल आखिर में आया. हम पर काफी दबाव था लेकिन हमने जिस तरह का प्रदर्शन किया उससे हम बहुत खुश हैं.’’ यह 28 वर्षीय वर्चू और 30 वर्षीय मोइर का शीतकालीन ओलंपिक में कुल पांचवां पदक है. उन्होंने वैंकुवर में एक स्वर्ण जीता था. इसके चार साल बाद सोच्चि 2014 में उन्होंने आइस डांस और टीम स्पर्धा में रजत पदक जीते थे. प्योंगचांग में पिछले सप्ताह इस जोड़ी ने टीम स्पर्धा में सोने का तमगा हासिल किया था.

कॉमनवेल्थ गेम्स में साड़ी की जगह ब्लेजर-पैंट में नजर आएंगी भारतीय महिला खिलाड़ी

इन दोनों ने सोमवार को मामूली बढ़त बना रखी थी जिस दिन पापदाकिस की पोशाक खिसकना भी चर्चा का विषय रहा. अमेरिका की माइया और अलेक्स शिबुतानी की भाई बहन की जोड़ी ने कांस्य पदक जीता.
(इनपुट भाषा)