WTA Ranking: नाओमी ओसाका बनीं वर्ल्ड नंबर-1, चोटी पर पहुंचने वाली एशिया की पहली खिलाड़ी

जापान की नाओमी ओसाका ने डब्ल्यूटीए रैंकिंग की चोटी से सिमोना हालेप को बेदखल किया.   

WTA Ranking: नाओमी ओसाका बनीं वर्ल्ड नंबर-1, चोटी पर पहुंचने वाली एशिया की पहली खिलाड़ी
नाओमी ओसाका पिछले नौ साल में नंबर-1 बनने वाली सबसे कम उम्र की टेनिस खिलाड़ी हैं. (फोटो: Reuters)

जेनेवा (स्विट्जरलैंड): दो दिन पहले साल का पहला ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन (Australian Open 2019) जीतने वाली जापान की नाओमी ओसाका (Naomi Osaka) विश्व की नंबर-1 महिला खिलाड़ी बन गई हैं. वुमंस टेनिस एसोसिएशन (WTA) ने सोमवार (28 जनवरी) को विश्व रैंकिंग की आधिकारिक घोषणा की. ओसाका ने शनिवार (26 जनवरी) को फाइनल में चेक रिपब्लिक की पेत्रा क्वितोवा ( Petra Kvitova) को हराकर अपने करियर का दूसरा ग्रैंड स्लैम खिताब जीता था. 

21 साल की नाओमी ओसाका वर्ल्ड नंबर-1 के मुकाम पर पहुंचने वाली एशिया की पहली खिलाड़ी बन गई हैं. उनसे पहले चीन की ली ना एशियाई खिलाड़ियों में सबसे ज्यादा रैंकिंग वाली खिलाड़ी थीं. वे वर्ल्ड नंबर-2 तक पहुंची थीं. ओसाका के ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतने के साथ ही यह तय हो गया था कि अगली नंबर-1 खिलाड़ी वही होंगी. पेत्रा क्वितोवा के पास भी चोटी पर पहुंचने का मौका था, लेकिन उन्होंने ओसाका के खिलाफ फाइनल गंवाने के साथ ही यह मौका भी गंवा दिया. 

यह भी पढ़ें: नोवाक जोकोविच; एकमात्र खिलाड़ी जिसने हारने से ज्यादा फेडरर-नडाल को हराया है, जानें 10 फैक्ट

नाओमी ओसाका ने डब्ल्यूटीए (WTA) ताजा रैंकिंग में तीन स्थान की छलांग के साथ पहली बार शीर्ष स्थान पर कब्जा जमाया है. वे पिछले नौ साल में नंबर-1 बनने वाली सबसे कम उम्र की टेनिस खिलाड़ी हैं. ओसाका ने रोमानिया की सिमोना हालेप (Simona Halep) को चोटी से बेदखल किया है. सिमोना हालेप तीसरे स्थान पर आ गई हैं. वहीं, क्वितोवा चार स्थान चढ़कर दूसरे स्थान पर पहुंच गई हैं. अमेरिका की स्लोअन स्टीफंस एक स्थान चढ़कर चौथे स्थान पर आ गई हैं. चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लिस्कोवा को तीन स्थान का फायदा हुआ है. वे पांचवें स्थान पर आ गई हैं. 

पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 जर्मनी की एंजेलिक केर्बर चार स्थान खिसकर छठे स्थान पर पुहंच गई हैं. शीर्ष-10 में सिर्फ यूक्रेन की एलिना स्वितोलिना ही अपने सातवें स्थान को बरकरार रख पाई हैं. नीदरलैंडस की किकि बेर्टेस एक स्थान नीचे आठवें पर हैं. डेनमार्क की कैरोलिना वोज्नियाकी को छह स्थान का नुकसान उठाना पड़ा है. 
बेलारूस की अर्यना साबालेंका भी एक स्थान आगे बढ़कर शीर्ष-10 में आ गई हैं। पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 अमेरिकी की सेरेना विलयिम्स भी पांच स्थान की छलांग के साथ 11वें स्थान पर पहुंच गई हैं.  भारत की बात करें तो अंकिता रैना नंबर-1 भारतीय खिलाड़ी बनी हुई हैं. उनकी वर्ल्ड रैंकिंग 168 है.