टेस्ट मैच: यूनिस और मसूद के शतकों से पाक अप्रत्याशित जीत की ओर

अनुभवी यूनिस खान और युवा शान मसूद की विषम परिस्थितियों में खेली गयी नाबाद शतकीय पारियों की बदौलत पाकिस्तान ने श्रीलंका के खिलाफ तीसरे और आखिरी टेस्ट क्रिकेट मैच में आज यहां 377 रन के रिकार्ड लक्ष्य को हासिल करने की तरफ मजबूत कदम बढ़ाये।

टेस्ट मैच: यूनिस और मसूद के शतकों से पाक अप्रत्याशित जीत की ओर

पाल्लेकल : अनुभवी यूनिस खान और युवा शान मसूद की विषम परिस्थितियों में खेली गयी नाबाद शतकीय पारियों की बदौलत पाकिस्तान ने श्रीलंका के खिलाफ तीसरे और आखिरी टेस्ट क्रिकेट मैच में आज यहां 377 रन के रिकार्ड लक्ष्य को हासिल करने की तरफ मजबूत कदम बढ़ाये।

यूनिस ने दिन के आखिरी ओवर में अपना 30वां टेस्ट शतक पूरा किया और वह अब भी 101 रन बनाकर क्रीज पर डटे हुए हैं जबकि मसूद (नाबाद 114) ने अपने करियर का पहला सैकड़ा जड़ा। इन दोनों के बीच 217 रन की अटूट साझेदारी से पाकिस्तान ने शुरूआती झटकों से उबरकर चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक दो विकेट पर 230 रन बनाये हैं और उसे अब जीत के लिये 147 रन की दरकार है।

श्रीलंका ने इससे पहले अपनी दूसरी पारी में 313 रन बनाये। उसकी पारी का आकर्षण कप्तान एंजेलो मैथ्यूज (122) का शतक रहा जबकि दिनेश चंदीमल ने 67 रन बनाये। पाकिस्तान की तरफ से इमरान खान ने 67 रन देकर पांच विकेट लिये। यदि पाकिस्तान जीत दर्ज करता है तो यह पहला अवसर होगा जबकि मेहमान टीम श्रीलंका में चौथी पारी में 300 से अधिक रन बनाकर टेस्ट जीतेगी। पाकिस्तान ने भी पहले कभी 350 रन से अधिक का लक्ष्य हासिल नहीं किया है। उसका रिकॉर्ड 314 रन का है जो उसने 1994 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कराची में बनाये थे।

पाकिस्तान की शुरुआत अच्छी नहीं रही। बड़े लक्ष्य के सामने अहमद शहजाद (शून्य) और अजहर अली (पांच) के विकेट जल्दी गंवा दिये जिससे स्कोर दो विकेट पर 13 रन हो गया। इसके बाद यूनिस और मसूद ने बखूबी जिम्मा संभाला। मसूद ने ऑफ स्पिनर तारिंदु कौशल पर लांग आन पर छक्का जड़कर अपना पहला शतक पूरा किया।

पाकिस्तान के पास रिकॉर्ड लक्ष्य हासिल करने का सुनहरा मौका है क्योंकि उसके पास आठ विकेट बचे हैं जबकि पिच से अब तेज गेंदबाजों को पहले जैसी मदद नहीं मिल रही है। इससे पहले श्रीलंका की टीम आज पांच विकेट पर 228 रन से आगे खेलने उतरी और उसने दूसरी पारी में 313 रन बनाए। कप्तान मैथ्यूज आउट होने वाले अंतिम बल्लेबाज रहे। उन्होंने 122 रन की पारी खेली।

श्रीलंका की टीम एक समय पांच विकेट पर 278 रन बनाकर बेहतर मजबूत स्थिति में थी लेकिन इसके बाद उसने अपने अंतिम पांच विकेट सिर्फ 35 रन जोड़कर गंवा दिए। कल 35 रन पर तीन विकेट के स्कोर पर बल्लेबाजी करने उतरे मैथ्यूज ने छह घंटे की अपनी पारी में 12 चौके और एक छक्का मारा। मैथ्यूज ने राहत अली पर दो रन के साथ अपना पांचवां टेस्ट शतक पूरा किया। लेकिन जब वह 99 रन पर थे तब श्रीलंका ने लगातार गेंद पर दो विकेट गंवाए।

इमरान ने चंदीमल को पगबाधा आउट करके मैथ्यूज के साथ उनकी 117 रन की साझेदारी का अंत किया। प्रसाद ने अगली गेंद पर विकेटकीपर सरफराज अहमद को कैच थमाया। प्रसाद मैच की दोनों पारियों में पहली गेंद पर ही पवेलियन लौट गए। इमरान ने इसके बाद कौशल (08) और सुरंगा लकमल (00) को पवेलियन भेजा जबकि मैथ्यूज को सरफराज के हाथों कैच कराके श्रीलंका की पारी का अंत किया।