सीमांध्र: कांग्रेस की सूची में कई नए चेहरे

सीमांध्र में कड़ी चुनौतियों का सामना कर रही कांग्रेस को लोकसभा और विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में ज्यादातर सीटों पर नए चेहरों को उम्मीदवार के रूप में उतारना पड़ा है।

हैदराबाद : सीमांध्र में कड़ी चुनौतियों का सामना कर रही कांग्रेस को लोकसभा और विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में ज्यादातर सीटों पर नए चेहरों को उम्मीदवार के रूप में उतारना पड़ा है। राज्य विभाजन के फैसले से खफा नेताओं के बड़ी संख्या में पार्टी छोड़ने के कारण कांग्रेस ने लगभग सभी निवर्तमान सांसदों और विधायकों को सूची में शामिल किया है।
कांग्रेस के लिए सीमांध्र और शेष आंध्र प्रदेश दोनों ही जगहों पर मुश्किल परीक्षा की घड़ी है, क्योंकि राज्य विभाजन से खफा तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) और वाईएसआर कांग्रेस पार्टियां कांग्रेस पर ही निशाना साधे हुए हैं। इधर, तेदेपा ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ गठबंधन कर लिया है।
कांग्रेस ने रविवार रात यहां लोकसभा की 20 सीटों और विधानसभा की 139 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम की सूची जारी की। पार्टी ने 2009 लोकसभा चुनाव में जीते गए सात सीटों पर नए चेहरों को प्रत्याशी बनाया है। इसी महीने के. संबाशिवा राव के मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने और कांग्रेस के टिकट पर चुनाव न लड़ने की घोषणा के बाद पार्टी ने एलुरु सीट से ई. नागेश्वर राव को उम्मीदवार बनाया है। पार्टी ने केंद्रीय मंत्री किशोर चंद्र देव को कराकु से, किल्ली कृपा रानी को श्रीकाकुलम से, पल्लप राजू को काकीनाड़ा से, पानाबाका लक्ष्मी को बापाटला से और कोटला सूर्यप्रकाश रेड्डी को कुरनूल से दोबारा उम्मीदवार बनाया है।
इसके अलावा डी. पवन कुमार को ओंगोले से, टी. विजयालक्ष्मी को अनाकापल्ली से, के. दुर्गेश को राजामुंद्री से, महेश्वर राव को अमलापुरम से, रमैया को नंदयाल से, वेंकटरामुदु को हिंदुपुर से, वी. नारायण रेड्डी को नेल्लोर से, के. वेंकटकृष्णा रेड्डी को नरसारावपेट से, शेख वहीद को गुंटूर से ओर डी. अविनाश को विजयवाड़ा से उम्मीदवार बनाया है। दूसरी तरफ विधानसभा की 139 सीटों के लिए कांग्रेस ने आधे से ज्यादा नए चेहरे चुनाव में उतारे हैं, क्योंकि 2009 में विजयी रहे ज्यादातर विधायक कांग्रेस से त्यागपत्र देकर वाईएसआर कांग्रेस और तेदेपा में शामिल हो गए हैं।
आंध्र प्रदेश से कांग्रेस अध्यक्ष एन. रघुवीरा रेड्डी पूर्व निर्वाचन क्षेत्र पेनुकोंडा की बजाय कल्याणदुर्ग से चुनाव लड़ेंगे। सीमांध्र में 25 लोकसभा सीटों और 175 सदस्यीय विधानसभा के लिए मतदान सात मई को कराए जाएंगे। (एजेंसी)