कृष्णाष्टमी

जन्माष्टमी पर कृष्णमय हुआ देश, आधी रात में जन्मे नंद के लाला

रात्रि में भगवान के जन्म के अवसर 12.00 बजे से 12.10 बजे तक प्रकट्योत्सव, 12.15 से 12.30 बजे तक महाभिषेक कराया गया. तत्पश्चात 12.40 से 12.50 बजे तक श्रृंगार आरती और फिर रात 1.30 बजे तक दर्शन हुआ.

Sep 4, 2018, 07:46 AM IST

Janmashtami 2018: श्री कृष्ण से बड़ा कोई मैनेजमेंट गुरु नहीं, सीखें सक्सेस मंत्र

गीता में भगवान कृष्ण ने कहा है इंसान को फल की चिंता छोड़कर केवल कर्म पर फोकस करना चाहिए, क्योंकि कर्म का फल क्या हो यह आपके हाथों में नहीं है.

Sep 3, 2018, 10:07 PM IST