independence day 0

आत्मनिर्भर कृषि-2025: अब भारत बनेगा दुनिया के लिए 'Food basket'

मोदी सरकार ने 'आत्मनिर्भर कृषि-2025' (Self-reliant agriculture-2025) के राष्ट्रीय लक्ष्य तहत देश के किसानों को उद्यमी बनाने के साथ-साथ भारत को दुनिया के लिए 'फूड बास्केट'(Food basket) बनाने की परिकल्पना की है. सरकार ने 2022 तक कृषि उत्पादों का निर्यात दोगुना बढ़ाकर 60 अरब डॉलर करने का लक्ष्य रखा है

Aug 26, 2020, 07:54 AM IST

Independence Day:आजादी के 74 सालों में भारत को मिली है खेलों में ये 50 सफलताएं

भारत आज आजादी की 74वीं सालगिरह मना रहा है, इनते सालों में भारतीय खेल प्रेमियों को गर्व करने का कई बार मौका मिला है.

Aug 15, 2020, 03:20 PM IST

पीएम मोदी के भाषण की वह बातें जो आपके लिए जानना जरूरी है

तिरंगा फहराने के बाद उन्होंने राष्ट्र को संबोधित किया. अपने संबोधन में उन्होंने देश को हर तरीके से आत्मनिर्भर बनाने पर बहुत अधिक जोर दिया, साथ ही उन तमाम उपलब्धियों को भी गिनाया जो बीते कुछ सालों में सरकार ने की हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके साथ ही लाल किले से जो कहा, उसकी खास बातें. 

Aug 15, 2020, 10:55 AM IST

लालकिले से पीएम मोदी ने जो कहा, जानिए उनके भाषण की खास बातें

लालकिले से दिए गए अपने भाषण में पीएम मोदी ने देश की ज्वलंत समस्याओं और सरोकारों  को भी रखा. इसके साथ ही उन्होंने आत्मनिर्भर भारत के मंत्र का एक बार फिर से जाप किया. पीएम मोदी के भाषण की बड़ी बातों पर डालते हैं नजर. 

Aug 15, 2020, 10:12 AM IST

लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फहराया तिरंगा

स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराया. कोरोना के कहर को देखते हुए इस बार कार्यक्रम में काफी बदलाव किया गया था. 

Aug 15, 2020, 07:38 AM IST

चित्तू पांडेय, वह शेर जिसने आजादी से पांच साल पहले ही बलिया को आजाद करा लिया था

अंग्रेजों ने कई क्रांतिकारी नेताओं को गिरफ्तार कर लिया. गांधी-नेहरू समेत कांग्रेस कार्य समिति के सभी सदस्य गिरफ्तार थे. इसके विरोध में बलिया भी उठा, और ऐसा उठा कि इतिहास में बलिया को अपना जग प्रसिद्ध नाम मिला बागी बलिया. जिस शख्सियत ने बलिया को यह पहचान दिलाई, उन्हें आदर सहित चित्तू पांडेय कहते हैं

Aug 15, 2020, 02:24 AM IST

वीर कुंअर सिंह, 80 साल का बूढ़ा राजा, जिसने गोली लगने पर हाथ काटकर गंगा में बहा दिया

भले ही इतिहास क्रांति का केंद्र  बहादुर शाह जफर को माने, लेकिन दिल्ली से बहुत दूर, गंगा नदी के तट पर गंगापुत्र भीष्म के ही समान एक और बूढ़ा अंग्रेजों की ओर नंगी तलवार लेकर दौड़ पड़ा था. घावों से भरे शरीर वाला वह 80 वर्षीय राजपूत जब जंगलों में युद्ध करता तो ऐसा लगता कि साक्षात भैरव ने तांडव मचा दिया है. 

Aug 15, 2020, 01:21 AM IST

आज़ादी के मतवाले तिलका मांझी, जिन्होंने ब्रितानी शासन की चूलें हिला दी थीं

ब्रितानी साम्राज्य जो कि अभी जमा भी नहीं था, उसे यह बांकुरा चुनौती दे रहा था. वह भी ऐसा जिसे देख पाना भी असंभव था. जिस जंगल के बीच अंग्रेजों का लड़ना असंभव हो जाता था, उसी जंगल में इस वीर के हर तीर पर मौत का संदेश बनकर बरसते थे. ऐसे थे संथाल जाति की शान और भारत की पहचान वीर तिलका मांझी. 

Aug 15, 2020, 12:26 AM IST

भारत भाग्य विधाता! जानिए 73 सालों में कितना बदल गया हिन्दुस्तान?

गुलामी की बेड़ियों को तोड़कर 15 अगस्त 1947 को हमारा देश आजाद हो गया था. लेकिन क्या आपको इस बात की जानकारी है कि इन 73 वर्षों में हिन्दुस्तान कितना बदल गया है? इस खास रिपोर्ट में देखिए..

Aug 15, 2020, 12:25 AM IST

खुदीराम बोस, वह क्रांतिकारी जिसने आजादी के लिए किया पहला बम विस्फोट

चाहे खुद का शरीर बेड़ियों में जकड़ कर कोड़ों से क्यों ने उधेड़ दिया, जाए लेकिन तेरा वैभव अमर रहे मां, हम दिन चार रहें न रहें गाते हुए फांसी झूल जाने वाले कई नामों को हम जानते भी नहीं. खुदीराम बोस ऐसे ही रणबांकुरे हैं. 

Aug 14, 2020, 10:55 PM IST