X

Krishi kranti News

alt
अपने देश में वैसे तो सैकड़ों फ़सलों की खेती की जाती है. लेकिन इनमें से तीन-चार फसलें ही ऐसी होती हैं जिनके फसल अवशेषों को ठिकाने लगाने का काम किसानों के लिए सरदर्द का काम होता है. जिसमें धान गेहूं और गन्ना अहम है. देश का दिल यानी राजधानी दिल्ली और उससे सटे आस-पास के शहर एक बार फिर से जानलेवा प्रदूषण की चपेट में हैं. यहां पराली के धुएं का असर जोरों से दिख रहा है. हवा में मिलते इस जहर के लिए पंजाब और हरियाणा में किसानों द्वारा बड़े पैमाने पर जलाई जा रही पराली को जिम्मेदार बताया जा रहा है. ज़ी हिन्दुस्तान की ख़ास पेशपश कृषि क्रांति में आज देखिए कैसे आप बिना फसल जलाएं पर्यावरण बचाने में अपना अहम योगदान दे पाएंगे.
Oct 17,2019, 9:21 AM IST
alt
देश में चने की खेती रबी के मौसम में की जाती है. पूरी दुनिया में चने की जितनी पैदावार है उसका 70 प्रतिशत अकेले भारत में ही होता है. अपने देश में चने की खेती लगभग 7.54 मिलियन हेक्टेयर क्षेत्र में की जाती है जिससे 5.75 मिलियन टन उपज प्राप्त होती है. चने को दालों का राजा कहा जाता है. चने की बेसन ,सूखा दाना सब्जी और दाल बनाने में उपयोग होता है. चने की खेती मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और बिहार में की जाती है. भारत में सबसे अधिक चने का क्षेत्रफल और उत्पादन वाला राज्य मध्यप्रदेश है, साथ ही छत्तीसगढ़ के मैदानी जिलो में चने की खेती असिंचित अवस्था में की जाती है, जिसकी बुआई का काम अक्टूबर महीने से शुरू हो जाता है जो अलग अलग क्षेत्रों में नवंबर के अंत तक चलता है.
Oct 16,2019, 13:35 PM IST
alt
केरल तिरुवनन्तपुरम के रहने वाले रविन्द्रन ने सऊदी अरब में मिली साल 1996 में आटो मोबाइल्स की नौकरी छोड़कर, देश लौट तिरुवनन्तपुरम में नेशनल हाइवे के नजदीक 1500 स्क्वायर फीट जमीन खरीद कर आटोमोबाइल्स का वर्कशाप खोल काम करने लगे. इसी दौरान एक दिन रविन्द्रन जी को किसी वजह से तिरुवनन्तपुरम स्थित रीजनल कैंसर हॉस्पिटल जाना हुआ, जहां पर उन्होनें देखा की कैंसर पीड़ित 100 मरीजों में से 90 लोगों को कैंसर की बीमारी डेली दूषित अनाज, फल, और सब्जियां के खाने से हुआ हैं क्योंकि केमिकल खाद और दवाओं से तैयार फसल के उपज में इन घातक रसायन की ज़हरीली उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं. जिसको खाने से लोग घातक बीमारियों के चपेट में आ रहे हैं.
Oct 16,2019, 12:56 PM IST
Read More

Trending news