Breaking News
  • महाराष्‍ट्र के स्‍कूल-कॉलेज में मुस्लिमों को 5 फीसद आरक्षण देने की तैयारी
  • दिल्ली: शाहीन बाग समेत 8 सड़कें खोलने की मांग वाली याचिका पर HC ने केंद्र और दिल्ली सरकार को जारी किया नोटिस
  • कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम राहत. पटेल की एक हप्ते तक नहीं होगी गिरफ्तारी
  • दिल्ली हिंसा: स्वरा भास्कर, अमानतुल्लाह खान और अन्य पर मामला दर्ज करने की मांग, HC ने पुलिस, राज्‍य सरकार को भेजा नोटिस
  • AAP पार्षद ताहिर हुसैन के घर पहुंची फोरेंसिक टीम

poetry collection

हंगरी के चेन ब्रिज से यमुना को देख रही है दिलीप शाक्‍य की पुस्‍तक ‘मैं और वह’

‘मैं और वह’ की कविताएं फारसी कवि हाफिज की'वेस्ट ईस्ट दीवान में' और इकबाल की ‘पयामे मशरिक’ की याद दिलाती हैं. 

Apr 2, 2019, 03:03 PM IST

इत्र तुम्हारी शर्ट का: अब मैं बूंदो से दोस्ती करूंगी, पुरवैया मेरी सहेली बन गई है

सुपरिचित कवयित्री निवेदिता दिनकर के कविता संग्रह ''इत्र तुम्हारी शर्ट का'' की कविताओं से साक्षात्कार करना, निश्चय ही एक अलग अनुभूति, एक अलग आस्वाद से साक्षात्कार करना है.

Mar 18, 2019, 09:38 PM IST

विश्व पुस्तक मेला: पारुल तोमर का कविता संग्रह 'सांझा-बाती' का लोकार्पण

हॉल नम्बर 12 में एपीएन पब्लिकेशंस स्टाल पर कवियित्री पारुल तोमर के कविता संग्रह “संझा-बाती” और कल्पना पांडे की पुस्तक @कल्पना लाइव का लोकार्पण किया गया. 

Jan 9, 2019, 10:32 PM IST