close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अब फोन आने पर महज 25 सेकेंड बजेगी आपकी घंटी, कंपनियों ने कम किया 'रिंग टाइम'

भारतीय एयरटेल (Bharti Airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) ने अपने नेटवर्क से बाहर जाने वाली कॉल पर घंटी बजने का टाइम घटाकर 25 सेकेंड कर दिया है.

अब फोन आने पर महज 25 सेकेंड बजेगी आपकी घंटी, कंपनियों ने कम किया 'रिंग टाइम'

नई दिल्ली : भारती एयरटेल (Bharti Airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) ने अपने नेटवर्क से बाहर जाने वाली कॉल पर घंटी बजने का टाइम घटाकर 25 सेकेंड कर दिया है. दोनों कंपनियों की तरफ से यह फैसला रिलायंस जियो (Reliance Jio) के साथ बढ़ रहे कंप्टीशन के कारण लिया है. आमतौर पर कॉल आने के समय बजने वाले फोन की अवधि 35 से 40 सेकेंड तक होती है.

ट्राई ने आपसी समाधान के लिए कहा था
दोनों कंपनियों की तरफ से उठाए गए इस कदम का मकसद कॉल जुड़े रहने के समय के अनुसार उसपर लगने वाले इंटरकनेक्ट यूज चार्ज (IUC) की लागत घटाना भी है. इंटरकनेक्ट यूज चार्ज किसी एक नेटवर्क की तरफ से दूसरे नेटवर्क द्वारा दी जाने वाली सेवाओं के लिए दिया जाता है. एयरटेल ने देशभर में अपने पूरे नेटवर्क पर घंटी का समय घटाया है, जबकि वोडाफोन-आइडिया ने कुछ सर्किल में ही इसे लागू किया है. आपको बता दें टेलीकॉम रेग्युलेटरी ट्राई ने इंटरकनेक्ट चार्ज के मामले में कोई भी फैसला लेने से पहले आपस में समाधान निकालने के लिए कहा था.

ग्राहकों को हो सकती है परेशानी
एयरटेल ने इस बारे में ट्राई को चिट्ठी के जरिये जानकारी दे दी है. एयरटेल ने कहा उसने फोन की घंटी बजने की ड्यूरेशन 25 सेकंड तक करने का फैसला किया है. जियो की तरफ से ऐसा करने के बाद यह निर्णय लिया गया है. इससे ग्राहकों को भी परेशानी हो सकती है. रेग्युलेटरी की तरफ से इस बारे में कोई साफ निर्देश नहीं होने के कारण कंपनी के पास कोई और विकल्प नहीं बचा है.

यह वीडियो भी देखें:

जियो पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया था
आपको बता दें पिछले महीने आईयूसी के मामले पर सभी टेलीकॉम कंपनियों का विवाद टेलीकॉम रेगुलेटर ट्राई के पास तक पहुंच था. एयरटेल की तरफ से दूसरे नेटवर्क पर कॉल से जुड़ने को पैसा कम चुकाने के लिए जियो पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया था. दरअसल आईयूसी को जनवरी, 2020 से खत्म किए जाने का प्रस्ताव है. लेकिन ट्राई की तरफ से इसकी समयसीमा को लेकर अभी समीक्षा की जा रही है.