बिना फोन उठाए कॉल पर होगी बात, Google असिस्टेंट ऐसे करेगा आपकी मदद

जल्द ही गूगल असिस्टेंट में एक खास फीचर दिया जाएगा, जिसमें AI तकनीक के जरिए यूजर्स की तरफ से गूगल फोन पर बातें करेगा. 

बिना फोन उठाए कॉल पर होगी बात, Google असिस्टेंट ऐसे करेगा आपकी मदद
गूगल CEO ने बताया गूगल असिस्‍टेंट का यह कारनामा आप जल्‍द यूज कर पाएंगे.

नई दिल्ली: टेक्नोलॉजी की दिग्गज कंपनी गूगल ने अपनी एनुअल कांफ्रेंस में वर्चुअल गूगल असिस्टेंट को लेकर एक बड़ी घोषणा की है. योजना के तहत गूगल भविष्य में मशीन लर्निंग और AI टेक्नोलॉजी के साथ आगे बढ़ेगी. जिसमें गूगल असिस्टेंट सहित गूगल के अन्य प्रोडक्ट को शामिल किया गया है. जल्द ही गूगल असिस्टेंट में एक खास फीचर दिया जाएगा, जिसमें AI तकनीक के जरिए यूजर्स की तरफ से गूगल फोन पर बातें करेगा. 

डुप्लेक्स टक्नोलॉजी का होगा इस्तेमाल
इसके लिए गूगल खास तरह की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करेगा, जिसका नाम गूगल डुप्लेक्स है. इस टेक्नोलॉजी के जरिए असिस्टेंट को तकनीक रूप से इतनी संभव बनाया जाएगा जिससे वह इंसानों की जगह पर खुद फोन पर बात कर सके. इसमें गूगल असिस्टेंट खुद कॉल कर यूजर्स की जगह होटल या सैलून की बुकिंग कर सकेगा.

कैसी होगी गूगल असिस्टेंट की डिजाइनिंग
गूगल असिस्टेंट को इस तरह से डिजाइन किया जाएगा, जिससे वह बोलचाल की सामान्य भाषा को आसानी से समझ सके. गूगल फिलहाल इस टेक्नोलॉजी पर काम कर रहा है. इस जल्द ही बिजनेस और सामान्य यूजर्स के लाया जाएगा. इसके साथ ही गूगल ने असिस्टेंट में बदलाव करते हुए छह नई वॉयस दी हैं. 

Google लाया जॉब सर्च का ऑप्‍शन, घर बैठे मिलेगी मोटे पैकेज वाली नौकरी

30 भाषाओं में गूगल असिस्टेंट
गूगल की कोशिश है कि असिस्टेंट की आवाज को ह्यूमन (इंसानों) की आवाज की तरह बनाया जाए. इससे बातचीत की दौरान यूजर्स बेहतर ढंग से समझ सकें. ग्लोबली गूगल असिस्टेंट पर करीब 50 करोड़ डिवाइस में इस्तेमाल किया जा रहा है. इस साल की शुरूआत होने के साथ ही भारत में गूगल असिस्टेंट के यूजर्स करीब तीगुने हो चुके हैं. फिलहाल, असिस्टेंट करीब 30 भाषाओं में दुनिया के 80 देशों में मौजूद है.

सुंदर पिचई ने सुनाई रिकॉर्डिंग
कैलीफोर्निया में चल रही गूगल की सालाना डेवलपर्स कॉन्‍फ्रेंस Google I/O 2018 के दौरान कंपनी के सीईओ सुंदर पिचई ने हॉल में बैठे हुए लोगों को कंप्‍यूटर पर रिकॉर्डेड एक फोन कॉल सुनाई. इस कॉल में एक सैलून को फोन करके अप्वाइंटमेंट लिया जा रहा था. पिचई ने बताया किे ये कॉल किसी इंसान ने नहीं बल्कि गूगल असिस्‍टेंट ने खुद अपने आप की है. यहीं नहीं कॉल के दौरान सैलून में मौजूद व्‍यक्ति से इसने इंसानों की भाषा और अंदाज में कुछ इस तरह बातचीत की है, कि सामने वाले को पता ही नहीं चला के वो इंसान से बात कर रहा है या कंप्‍यूटर. 

गूगल देगा आपको पर्सनल असिस्टेंट
गूगल CEO ने बताया कि गूगल असिस्‍टेंट का यह कारनामा हम आप बहुत जल्‍द देख और यूज कर पाएंगे. इस तरह से गूगल आम और खास लोगों को एक ऐसा डिजिटल पर्सनल असिस्‍टेंट देने वाला है, जो आपके PA की तरह आपके कई काम करने और किसी और से करवाने में भी जबरदस्‍त हेल्‍प करेगा. बस आपको उसे यह बताना होगा कि तय वक्‍त या जगह पर आपको क्‍या चाहिए.