close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

12 लाख भारतीयों के डेबिट-क्रेडिट कार्ड की डिटेल चोरी, आप भी हो जाएं सतर्क

अगर आप भी क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड यूज करते हैं तो सावधान हो जाइए. जी हां, देश के 12 लाख से भी ज्यादा क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड की जानकारी लीक हो गई है.

12 लाख भारतीयों के डेबिट-क्रेडिट कार्ड की डिटेल चोरी, आप भी हो जाएं सतर्क

नई दिल्ली : अगर आप भी क्रेडिट कार्ड (Credit Card) और डेबिट कार्ड (Debit Card) यूज करते हैं तो सावधान हो जाइए. जी हां, देश के 12 लाख से भी ज्यादा क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड की जानकारी लीक हो गई है. सिंगापुर की मशहूर साइबर सिक्योरिटी कंपनी ग्रुप आईबी (GROUP IB) की तरफ से यह खुलासा किया गया है. कंपनी का दावा है कि हैकर्स लीक किए गए इस डाटा को ऑनलाइन बेच रहे हैं. जानकारों का दावा है कि यह साल 2019 की सबसे बड़ी साइबर चोरी है.

ट्रैक-2 डाटा हुआ चोरी
शुरुआती जांच में सामने आया है कि इसमें सबसे महत्वपूर्ण ट्रैक-2 डाटा भी चोरी हुआ है, जो कार्ड के पीछे मैग्नेटिक स्ट्रिप में होता है. इसमें ग्राहक की प्रोफाइल और उसके लेनदेन से जुड़ी पूरी जानकारी होती है. आपको बता दें डेबिट/ क्रेडिट कार्ड के ट्रैक-1 डाटा में सिर्फ कार्ड नंबर होता है. वहीं ट्रैक-2 डाटा में ग्राहक के प्रोफाइल और उसके लेनदेन से जुड़ी अहम जानकारी होती है.

बताया जा रहा है जिन 12 लाख से ज्यादा कार्ड का डाटा हैकर्स से लीक किया है, उनमें 98 प्रतिशत भारतीयों के हैं. इतना ही नहीं इनमें से 18 प्रतिशत कार्ड तो एक ही बैंक के हैं. हालांकि अभी तक इस बैंक का नाम सामने नहीं आया है. ग्रुप आईबी का दावा है कि हर कार्ड के डाटा को हैकर्स 100 डॉलर (करीब 7 हजार रुपये) में बेच रहे हैं.

ऐसे बचें हैकर्स का शिकार होने से
ग्राहक लेनदेन करने वाले कार्ड में सीमित पैसा ही रखें. आप जिस कार्ड से आमतौर पर लेनदेन करते हैं, उसमें जरूरत के अनुसार ही पैसे रखें. कोई भी संदिग्ध ट्रांजेक्शन होने पर तुरंत पुलिस और बैंक को इसकी सूचना दें.