Elon Musk ने ईमेल में लिखी ऐसी बात, पढ़कर खौफ खा गए कर्मचारी; 1200 लोगों ने तो तुरंत छोड़ी Job
topStories1hindi1465300

Elon Musk ने ईमेल में लिखी ऐसी बात, पढ़कर खौफ खा गए कर्मचारी; 1200 लोगों ने तो तुरंत छोड़ी Job

Musk ने अपने कर्मचारियों को एक मेल किया है, जहां उन्होंने वर्कर्स से प्रोडक्टिविटी के लिए 6 रूल्स को फॉलो करने को कहा है. मस्क के ईमेल में कर्मचारियों से हार्डकोर वर्क कल्चर अपनाने को कहा.

 

Elon Musk ने ईमेल में लिखी ऐसी बात, पढ़कर खौफ खा गए कर्मचारी; 1200 लोगों ने तो तुरंत छोड़ी Job

Twitter के नए बॉस एलन मस्क कई बड़े फैसले ले रहे हैं और कर्मचारियों को घंटों काम करने को कह रहे हैं. अब Musk ने अपने कर्मचारियों को एक मेल किया है, जहां उन्होंने वर्कर्स से प्रोडक्टिविटी के लिए 6 रूल्स को फॉलो करने को कहा है. उनके नए मेल से पता चलता है कि एलन मस्क को मीटिंग्स से बहुत नफरत है. मेल के मुताबिक, वो उन लोगों को मीटिंग में नहीं चाहते जो योगदान नहीं दे सकते हैं. उन्होंने इस समय की बर्बादी कहा है. रिपोर्ट्स के मुताबिक एलन मस्क ने यही ईमेल टेस्ला, स्पेसएक्स और उनकी दूसरी कंपनियों के कर्मचारियों को भेजे हैं.

मेल के बाद छोड़ी 1200 लोगों ने नौकरी

Twitter 2.0 को बनाने के लिए एलन मस्क ने कर्मचारियों को एक ईमेल भेजा है, जहां उन्होंने प्रोडक्टिव रहने के लिए 6 रूल्स लिस्ट किए हैं. मस्क के ईमेल में कर्मचारियों से हार्डकोर वर्क कल्चर अपनाने को कहा था. हालांकि कर्मचारियों के लिए यह सही साबित नहीं हुआ. एलन मस्क के इस मेल के बाद करीब 1200 कर्मचारियों ने कंपनी ही छोड़ दी.

एलन मस्क के 6 नए नियम

एलन मस्क ने कहा कि अनावश्यक मीटिंग्स से बचना चाहिए. उन्होंने लिखा, 'लगातार मीटिंग्स से छुटकारा पाएं. अगर कोई अर्जेंसी तो तभी मीटिंग करें. जब मामला सुलझ जाए तो मीटिंग को तुरंत खत्म कर दें.' इससे समझ आता है कि मस्क मीटिंग के पक्ष में नहीं हैं. उनके मुताबिक, मीटिंग से समय बहुत खराब होता है. उन्होंने कहा, 'बड़ी कंपनियों के लिए मीटिंग अभिषाप है. मीटिंग में वो ही मौजूद रहें जो इनपुट दे सकते हैं. फालतू भीड़ करने की जरूरत नहीं.'

योगदान नहीं तो मीटिंग में जरूरत नहीं

मस्क ने इस सुझाव पर काफी जोर दिया है. उन्होंने कर्मचारियों से कहा कि अगर वो योगदान नहीं दे सकते हैं तो मीटिंग से तुरंत उठकर चले जाएं. यह बॉस को भले ही पसंद न आए, लेकिन यह उन लोगों के लिए फायदेमंद हो सकता है, जो मूकदर्शक बने रहते हैं. 

कम्यूनिकेशनल चैनल को फॉलो न करें

मस्क ने कर्मचारियों से यह भी कहा कि अगर वे कोई महत्वपूर्ण काम करना चाहते हैं तो हरआर्की का पालन न करें. उनकी राय में, फास्ट कम्यूनिकेटर्स तेजी से निर्णय लेते हैं. उन्होंने ईमेल में बताया कि अगर कर्मचारी कुछ कहना चाहता है तो किसी और से कम्यूनिकेट करने से बहतर है कि डायरेक्ट बात करे. इससे कंपनी को फायदा होगा.

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news