close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

FaceApp से आपकी प्राइवेसी को खतरा! सर्वर से ऐसे डिलीट करें डेटा

टेक एक्सपर्ट का मानना है कि FaceApp फिल्टर इमेज के बदले आपकी प्राइवेसी के साथ खिलवाड़ कर रहा है. यह आपका डेटा चोरी कर रहा है और इसे थर्ड पार्टी को भी बेचा जा रहा है. 

FaceApp से आपकी प्राइवेसी को खतरा! सर्वर से ऐसे डिलीट करें डेटा
फोटो साभार सोशल मीडिया.

नई दिल्ली: हम सभी वर्तमान में जीते हैं. लेकिन, हर किसी की ख्वाहिश और उत्सुकता यह होती है कि आने वाले दिनों में क्या कुछ होने वाला है. ऐसे में अगर एक मोबाइल एप्लीकेशन से आपको यह पता चल जाए कि आप 10 साल, 20 साल या 50 साल बाद कैसे दिखेंगे तो इस एप के प्रति दीवानगी का अंदाजा लगाया जा सकता है. FaceApp एकबार फिर से पूरी दुनिया में वायरल हो रहा है. लाखों-करोड़ों लोग इसे डाउनलोड कर चुके हैं. ऐसा नहीं है कि यह पहली बार हुआ है. 2017 में जब यह लॉन्च हुआ था उस समय  भी करोड़ों लोगों ने इसे डाउनलोड किया था. लेकिन, यह एकबार फिर से चर्चा में है.

हालांकि, एकबार फिर से इसको लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं. टेक एक्सपर्ट का मानना है कि फिल्टर इमेज के बदले आप अपनी गोपनीयता के साथ समझौता कर रहे हैं. यह मोबाइल एप आपका डेटा चोरी कर रहा है और इसे थर्ड पार्टी को भी बेचा जा रहा है. आपकी प्राइवेसी खतरे में है, इसलिए इस तरह के एप के इस्तेमाल से बचें. विरोध बढ़ता देख रूस की कंपनी Wireless Lab, जिसने इस एप को बनाया है उसके CEO अब घूम-घूम कर इंटरव्यू दे रहे हैं.

इस एप में एज फिल्टर के अलावा बियर्ड और हेयर फिल्टर विद कलर भी दिया गया है. इसके अलावा जेंडर स्वाइप का भी ऑप्शन होता है. इन्हीं फीचर्स की वजह से सोशल मीडिया पर इसकी खूब चर्चा हो रही है. जितनी इसकी चर्चा हो रही है, उससे कहीं तेजी से लोग इसे डाउनलोड कर रहे हैं. गूगल प्ले स्टोर पर इस एप को बेहद शानदार रेटिंग मिली है.

क्या है विवाद?
टेक एक्सपर्ट का कहना है कि टर्म एंड कंडीशन के दौरान यूजर्स सबकुछ एक्सेप्ट करता है. लेकिन, सच्चाई ये है कि यह आपके चेहरे के साथ-साथ पर्सनल डेटा को भी एक्सेस करता है. कंपनी की पॉलिसी है कि वह आपकी कुछ जानकारी दूसरे मकसद के लिए अन्य इंस्टीट्यूशन या कंपनियों को शेयर कर सकती है. कंपनी कुकीज डेटा को थर्ड पार्टी एडवर्टाइजर को बेच देती है.

कैसे डिलीट करवाएं डेटा?
वॉशिंगटन पोस्ट ने FaceApp CEO के हवाले से लिखा है कि आप इस एप्लीकेशन को बिना नाम और ईमेल आईडी की जानकारी दिए बगैर भी डाउनलोड कर सकते हैं. यह अपने क्लाउड में आपके फोटोज को सेव करता है. लेकिन, जिसे सलेक्ट करते हैं उसे ही फिल्टर के साथ अपलोड करता है. इसके सर्वर में ये फोटोज 48 घंटों तक रहते हैं. उन्होंने कहा कि डेटा किसी भी कंपनी को नहीं बेचा जा रहा है. लेकिन, एप्लीकेशन को डिलीट कर देने से भी क्लाउड में स्टोर डेटा डिलीट नहीं हो जाएगा. ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि क्लाउड से आपकी सारी जानकारी और फोटो डिलीट कर दिए जाएं तो रिक्वेस्ट डालनी होगी.

इस तरह करें डिलीट रिक्वेस्ट
पहले FaceApp के सेटिंग्स में जाएं. यहां सपोर्ट ऑप्शन में जाकर रिपोर्ट को सलेक्ट करना है. यहां सब्जेक्ट लाइन में जाकर Privacy लिखना है. इस बग के सहारे कंपनी आपकी सभी जानकारी क्लाउड से डिलीट कर देगी. फिलहाल, यह जानकारी कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर भी नहीं है. FaceApp CEO ने कहा कि इस दिशा में काम किया जा रहा है.