TikTok की कमी पूरा करने आ गया है Reels, अब जी भर के बनाइए शॉर्ट वीडियो

फेसबुक (Facebook) ने अपने इंस्टाग्राम ऐप में ही Reels नाम से एक नया फीचर लॉन्च किया है. इसकी मदद से आप टिकटॉक (TikTok) जैसे ही जबरदस्त शॉर्ट वीडियो (Short Videos) बनाकर लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं.

TikTok की कमी पूरा करने आ गया है Reels, अब जी भर के बनाइए शॉर्ट वीडियो
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: देश में पॉपुलर शॉर्ट वीडियो ऐप TikTok बैन होने के बाद अगर आप अपने टैलेंट को लोगों के साथ साझा नहीं कर पा रहे हैं तो निराश होने की जरूरत नहीं है.  आपको वीडियो (Videos) बनाकर शेयर करने के लिए इंतजार करने की जरूरत नहीं है. अब आप ऐसे वीडियो इंस्टाग्राम (Instagram) में भी बना सकते हैं. फेसबुक (Facebook) ने अपने इंस्टाग्राम ऐप में ही Reels नाम से एक नया फीचर लॉन्च किया है. इसकी मदद से आप टिकटॉक जैसे ही जबरदस्त शॉर्ट वीडियो (Short Videos) बनाकर लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं.

गौरतलब है कि चीन विरोधी धारणा के चलते दुनियाभर में टिकटॉक का विरोध हो रहा है. डेटा सुरक्षा (Data Security) को लेकर भारत जैसे देश ने भी टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाया है. ऐसे में ‘रील्स’ की पेशकश से फेसबुक को अपनी पकड़ बनाने में मदद मिलेगी.

इससे पहले कंपनी ने स्नैपचैट (Snapchat) से प्रतिस्पर्धा में इंस्टाग्राम मंच पर ही ‘स्टोरी’ फीचर पेश किया था जिसे बाद में फेसबुक और व्हाट्सएप (WhatsApp) पर भी डाल दिया गया. स्टोरी फीचर में यूजर किसी फोटो या वीडियो को 24 घंटे के लिए डाल सकते हैं. उसके बाद वह अपने आप ही गायब हो जाती है.

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) को अपनी प्रतिद्वंदी कंपनियों के फीचर का क्लोन बनाने के चलते अमेरिकी संसद में 29 जुलाई को उनकी पेशगी के दौरान कठिन सवालों का सामना करना पड़ा था.

इंस्टाग्राम पर रील्स के वीडियो स्टोरी फीचर (Video Story feature) के साथ-साथ पेज पर ‘रील्स’ खंड के तहत भी साझा किया जा सकता है.

कंपनी रील्स फीचर को प्रायोगिक तौर पर भारत और ब्राजील जैसे बाजारों में पेश कर चुकी है. अब कंपनी भारत, ब्राजील समेत अमेरिका, जर्मनी, फ्रांस, जापा, ऑस्ट्रेलिया और अन्य 50 देशों में शुरू करने जा रही है.

ये भी पढ़ें: बेहद कम कीमतों में मिलता है Fast Internet, यहां देखें सबसे सस्ते ब्रॉडबैंड प्लान्स

वहीं माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) टिकटॉक में हिस्सेदारी खरीदने को लेकर बातचीत कर रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के चीन के स्वामित्व वाली वीडियो ऐप पर प्रतिबंध लगाने की चेतावनी के बाद कंपनी अपनी हिस्सेदारी बेचने को मजबूर है. कंपनी के अमेरिका अकेले में करीब 10 करोड़ उपयोक्ता हैं.