close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

TRAI का फैसला, मोबाइल पर 30 सेकेंड और लैंडलाइन पर 60 सेकेंड बजेगी घंटी

मोबाइल फोन (Mobile) पर इनकमिंग कॉल की घंटी (Ringtone) अब अधिकतम 30 सेंकेंड और लैंडलाइन (Landline) पर अधिकतम 60 सेकेंड तक बजेगी.

TRAI का फैसला, मोबाइल पर 30 सेकेंड और लैंडलाइन पर 60 सेकेंड बजेगी घंटी

नई दिल्ली : मोबाइल फोन (Mobile) पर इनकमिंग कॉल की घंटी (Ringtone) अब अधिकतम 30 सेंकेंड और लैंडलाइन (Landline) पर अधिकतम 60 सेकेंड तक बजेगी.ऐसा दूरसंचार नियामक TRAI ने फैसला किया है. ट्राई ने द स्‍टैंडर्ड्स ऑफ क्‍वालिटी ऑफ सर्विस ऑफ बेसिक टेलीफोन सर्विस (वायरलाइन) (The Standards of Quality of Service of Basic Telephone Service (Wireline)) और सेलुलर मोबाइल टेलीफोन सर्विस (सेवंथ एमेंडमेंट) रेगुलेशन 2019 (Cellular Mobile Telephone Service (Seventh Amendment) Regulations, 2019) जारी कर दिया है.

ट्राई ने बेसिक टेलीफोन सर्विस और मोबाइल टेलीफोन सर्विस के लिए सर्विस की गुणवत्ता नियमों में सुधार करते हुए कहा कि अगर कोई इनकमिंग कॉल को काटा या उठाया न जाए, तो मोबाइल पर घंटी अधिकतम 30 सेकेंड और बेसिक टेलीफोन (लैंडलाइन) पर 60 सेकेंड बजेगी.

खर्च घटाने के लिए घटाया था समय
हालांकि, दूरसंचार कंपनियों (Telecom Companies) ने पहले ही अपना खर्च घटाने के लिए इनकमिंग कॉल (Incoming Call) का रिंग टाइम घटा दिया था. ऐसा दूसरे नेटवर्क पर कॉल करने पर होता था. लेकिन, अब अगर आप Airtel के कस्‍टमर हैं और Vodafone या दूसरे किसी नेटवर्क पर कॉल करेंगे तो रिंग 30 सेकंड बजेगी.

वोडाफोन ने समय घटाकर 25 सेकेंड किया समय
आपको बता दें कि एयरटेल (Airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) ने अपने नेटवर्क से बाहर जाने वाली कॉल पर रिंग टोन का समय घटाकर 25 सेकंड कर दिया था, जो आमतौर पर 40 से 45 सेकंड होता था. इसके पीछे मकसद कॉल जुड़े रहने के समय के मुताबिक उस पर लगने वाले इंटरकनेक्ट उपयोग शुल्क (IUC) की लागत घटाना है. भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने IUC मामले में जबरदस्‍त कम्‍पीटीशन में उलझीं दूरसंचार कंपनियों से किसी समाधान पर पहुंचने के लिए कहा था. उनसे बातचीत के बाद ट्राई ने निर्देश जारी किए हैं.

क्‍या है IUC
IUC किसी एक नेटवर्क को दूसरे नेटवर्क पर दी जाने वाली सेवाओं पर दिया जाता है. इसमें जिस नेटवर्क से कॉल की जाती है वह कॉल पहुंचने वाले नेटवर्क को यह शुल्क अदा करता है. अभी इसकी दर 6 पैसा प्रति मिनट है. एयरटेल ने ट्राई को इसके बारे में बता दिया है. वोडाफोन आइडिया ने भी चुनिंदा परिक्षेत्रों में फोन की घंटी बजने की अवधि घटाने का निर्णय किया है.