इंडियन आर्मी ने बनाया WhatsApp जैसा स्वदेशी ऐप, जानें क्या-क्या मिलेंगे फीचर

भारतीय सेना ने व्हाट्सऐप (Whatsapp) और टेलीग्राम के जैसा एक स्वदेशी मैसेजिंग ऐप (Messaging Apps) विकसित किया है.

इंडियन आर्मी ने बनाया WhatsApp जैसा स्वदेशी ऐप, जानें क्या-क्या मिलेंगे फीचर
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत (Aatmnirbhar Bharat) अभियान को आगे बढ़ाते हुए भारतीय सेना ने व्हाट्सऐप (Whatsapp) और टेलीग्राम जैसा एक स्वदेशी मैसेजिंग ऐप (Messaging Apps) विकसित किया है. रक्षा मंत्रालय ने बताया कि ऐप का नाम सिक्योर एप्लिकेशन फॉर इंटरनेट (SAI) रखा गया है.

एंड टू एंट सिक्योर होगी चैट और कॉलिंग
ऐप एंड टू एंड सिक्योर टेक्स्ट मैसेज के अलावा ऑडियो और वीडियो कॉलिंग सर्विस को सपोर्ट करेगा. फिलहाल इस ऐप को एंड्रॉयड बेस्ड इंटरनेट सर्विस इस्तेमाल करने वाले स्मार्टफोन के लिए तैयार किया गया है. ऐप के NIC पर इंफ्रास्ट्रक्चर होस्टिंग की ​प्रक्रिया, बौद्धिक संपदा अधिकार (IPR) की फाइलिंग और iOS वर्जन पर काम जारी है.

सेना करेगी संदेश भेजने के लिए इस्तेमाल
रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि SAI ऐप मॉडल कमर्शियली उपलब्ध मैसेजिंग ऐप्स जैसे वॉट्सऐप, टेलिग्राम, SAMVAD और GIMS के जैसा है. यह एंड टू एंड इन्क्रिप्शन मैसेजिंग प्रोटोकॉल का इस्तेमाल करता है. बयान में आगे कहा गया है कि साई (SAI) का पूरे देश में सेना द्वारा सुरक्षित रूप से संदेश भेजने के लिए उपयोग किया जाएगा.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दी बधाई
SAI ऐप को CERT-in पैनल में शामिल ऑडिटर और आर्मी साइबर ग्रुप ने जांचा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ऐप की समीक्षा करने के बाद इसे विकसित करने वाले कर्नल साई शंकर को उनके स्किल के लिए बधाई दी.

VIDEO