कोरोना वायरस: इस App ने COVID-19 से जुड़ी Fake News के खिलाफ छेड़ा अभियान

इस ऐप ने एक डैशबोर्ड की मदद से भारत, सऊदी अरब और बांग्लादेश जैसे देशों के 20 मिलियन से अधिक लोगों को जागरूक किया.

कोरोना वायरस: इस App ने COVID-19 से जुड़ी Fake News के खिलाफ छेड़ा अभियान
इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप 'imo'

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के समय में फ्री वीडियो कॉलिंग और इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप 'imo' ने जागरूकता बढ़ाने के लिए और COVID-19 महामारी से जुड़ी फेक न्यूज के खिलाफ एक पहल की है. imo ने वैश्विक स्तर पर इसके लिए प्रयास किए गए हैं. सही जानकारी पेश करने के लिए imo ने एक डैशबोर्ड की मदद से भारत, सऊदी अरब और बांग्लादेश जैसे देशों के 20 मिलियन से अधिक लोगों को जागरूक किया.

COVID-19 के प्रकोप की शुरुआत में ही CSR पहल के तहत, imo ने प्रभावित देशों के रियल टाइम आंकड़ों को इकट्ठा किया और डैशबोर्ड के जरिए लोगों तक जानकारियां पहुंचाई. इसके अलावा, imo ऐप ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण, सरकारी घोषणाओं, वेरिफाइड रिपोर्ट आदि जैसी जानकारियों को भी यूजर्स तक पहुंचाया. इसने सोशल मीडिया में वायरल हो रही फेक न्यूज के बारे में यूजर्स को जानकारी दी. महामारी से संबंधित सूचनाओं को imo पर प्रतिदिन औसत 10 मिलियन से अधिक यूजर्स ने देखा.

दरअसल ऐसा इसीलिए संभव हो पाया क्योंकि बड़ी संख्या में लोग imo ऐप से जुड़े हैं. कुछ सरकारी ऑफिसरों ने भी imo ऐप द्वारा उठाए गए कदमों का संज्ञान लिया. बांग्लादेश सरकार के सूचना संचार प्रौद्योगिकी (ICT) विभाग ने 29 अप्रैल को सऊदी अरब में फंसे अपने नागरिकों को मेडिकल हेल्प पहुंचाने के लिए imo ऐप पर एक स्वास्थ्य सेवा कॉल सेंटर शुरू किया. इस कार्यक्रम में पांच imo नंबरों को शामिल किया गया, जिसके जरिए बांग्लादेशी नागरिक डॉक्टरों के साथ परामर्श ले सकते हैं.

ये भी पढ़ें- आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से जुड़ी कोई भी चीज सीखना चाहते हैं, तो ये पोर्टल बनेगा वन स्टॉप डेस्टिनेशन

imo ऐप की वैश्विक लोकप्रियता के पीछे का कारण पर बात करते हुए, imo के प्रवक्ता ने कहा, 'हमारी व्यापक स्वीकृति का एक मुख्य कारण कमजोर नेटवर्क वाले इलाके में भी स्थिर कॉल उपलब्ध करवाने की क्षमता है. बाजार में अन्य इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप की तुलना में यूजर्स वीडियो कॉल और मैसेजिंग के लिए imo का इस्तेमाल करते हुए 20% से अधिक मोबाइल डाटा बचा सकते हैं. हमें खुशी है कि इस टेक्नोलॉजी ने लोगों की मदद की है.'

ये वीडियो भी देखें-

उपर्युक्त पहलों के अलावा, imo ऐप ने व्यक्तिगत और बिजनेस क्षेत्र के लोगों के लिए चीजों को आसान बनाने के लिए अपने कामकाज में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं. COVID-19 संकट के दौरान imo ऐप ने जरूरत के हिसाब से कई लोगों को ऑडियो और वीडियो कॉल पर जोड़ने के लिए ऐप को अपग्रेड किया. अब ऑडियो कॉल पर एक बार में 20 लोग जुड़ सकते हैं और एक वीडियो कॉल पर 9 लोग imo के जरिए जुड़ सकते हैं. इस ऐप से वर्क फ्रॉम होम कर रहे लोग मीटिंग कर सकते हैं. यह ऐप उन लोगों के लिए भी अच्छी है जो इस मुश्किल समय में अपने प्रियजनों के साथ जुड़ना चाहते हैं.