Microsoft ने बनाया एक ऐसा मॉडल, भारत में करेगा इन बड़ी चीजों की भविष्यवाणी

इस नए मॉडल में भारत में हीटवेव जोखिमों की भविष्यवाणी करने की क्षमता होगी. नए मॉडल का उपयोग पहले चक्रवात और बाढ़ जैसी अन्य प्राकृतिक आपदाओं की भविष्यवाणी करने के लिए किया गया है.

Microsoft ने बनाया एक ऐसा मॉडल, भारत में करेगा इन बड़ी चीजों की भविष्यवाणी

नई दिल्ली: Microsoft ऐसा मॉडल तैयार करने जा रहा है जो आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के आधार पर भविष्य में आने वाली प्राकृतिक आपदाओं का आकलन कर सकेगा. यानी इसकी मदद से इस बात का पता लगाया जा सकेगा कि कब लू चलने वाली है, कब बाढ़ और चक्रवात आ सकते हैं. यह बेहद फायदेमंद होगा. इससे जहां आपदाओं के दौरान जान गंवाने वालों को बचाया जा सकेगा. वहीं इससे आपदाओं से होने वाले नुकसान को भी काफी हद तक रोका जा सकेगा. माइक्रोसॉफ्ट इंडिया और सस्टेनेबल एनवायरनमेंट एंड इकोलॉजिकल डेवलपमेंट सोसाइटी (सीड्स) ने 'सनी लाइव्स' नामक एक नया आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मॉडल बनाने के लिए पार्टनरशिप की है. इस नए मॉडल में भारत में हीटवेव जोखिमों की भविष्यवाणी करने की क्षमता होगी. नए मॉडल का उपयोग पहले चक्रवात और बाढ़ जैसी अन्य प्राकृतिक आपदाओं की भविष्यवाणी करने के लिए किया गया है. ऐसा दावा किया जा रहा है कि पूर्वानुमान से 1,25,000 लोगों की जान बचाई जा सकेगी. 

ऐसे करेगा सटीक भविष्यवाणी
सटीक भविष्यवाणियां करने के लिए और आपदा के प्रभाव का पूर्वानुमान लगाने के लिए मॉडल हाई रिजोल्यूशन सेटेलाइट इमेजरी, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस कोडिंग और आवास आकलन का उपयोग करता है. इस मॉडल का इस्तेमाल भविष्य में भूकंप, तूफान, जंगल की आग और जैविक आपदाओं जैसी अन्य प्राकृतिक आपदाओं की भविष्यवाणी करने के लिए भी किया जा सकता है. 

ये भी पढ़ें, कहीं हैक न हो जाए आपका Twitter अकाउंट, इन Tricks से रखें सिक्योर

इतने लोगों की हुई मदद
कंपनी का दावा है कि सीड्स ने 2021 में हीट वेव एडवाइजरी के बारे में जानकारी के लिए मॉडल बनाया था. इससे दिल्ली और नागपुर के 50,000 लोगों को पहले चेतावनी देकर मदद की गई. कंपनी ने कहा कि जलवायु परिवर्तन होने से पूरे भारत में और वैश्विक स्तर पर हीटवेब बढ़ रही है. ऐसे में यह मॉडल काफी उपयोगी होगा.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.