ट्राई ने रिलायंस की यह बात मानी तो करोड़ों लोगों को होगा नुकसान!

रिलायंस कम्युनिकेशंस ने मोबाइल ग्राहकों का बकाया पैसा लौटाने के दूरसंचार नियामक के निर्देश का विरोध किया है. ट्राई ने कंपनी की 'वॉयस' सेवा बंद होने के मद्देनजर यह निर्देश दिया है.

ट्राई ने रिलायंस की यह बात मानी तो करोड़ों लोगों को होगा नुकसान!
रिलायंस कम्युनिकेशन ने ई-मेल से पूछे गए सवालों का जवाब देने से मना कर दिया. (file pic)

नई दिल्ली : रिलायंस कम्युनिकेशंस ने मोबाइल ग्राहकों का बकाया पैसा लौटाने के दूरसंचार नियामक के निर्देश का विरोध किया है. ट्राई ने कंपनी की 'वॉयस' सेवा बंद होने के मद्देनजर यह निर्देश दिया है. हालांकि, भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) का विचार है कि ग्राहकों का पैसा वापस मांगना पूरी तरह न्यायोचित है क्योंकि यह कंपनी द्वारा सेवा को समय से पहले बंद करने से जुड़ा है. इसे सामान्य रूप से नेटवर्क बदलने से नहीं जोड़ा जा सकता है.

ग्राहकों के हितों का संरक्षण जरूरी
ट्राई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि चूंकि यह मामला सेवा प्रदाता द्वारा सेवा बंद करने से जुड़ा मामला है, ऐसे में ग्राहकों को वह राशि मिलनी चाहिए जो खर्च नहीं हुई. उसने कहा, ‘यह स्थिति एक ग्राहक द्वारा सेवा प्रदाता बदलने जैसा नहीं है. उसमें ग्राहक एक नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क में जाने के लिये समय का चयन स्वयं करता है.’ अधिकारी ने कहा कि सेवा प्रदाता ने सेवा बंद कर दी है और इसीलिए ग्राहकों के हितों का संरक्षण जरूरी है.

सवालों का जवाब देने से मना किया
रिलायंस कम्युनिकेशन ने इस बारे में ई-मेल के जरिये पूछे गए सवालों का जवाब देने से मना कर दिया. हालांकि, मामले से जुड़े सूत्रों ने कहा कि सेवा प्रदाता ने ट्राई के 19 जनवरी के पैसा वापस करने के निर्देश को लेकर पत्र लिखकर नियमन के खिलाफ दलील दी है.

यह भी पढ़ें : अगर आप भी Jio यूजर हैं तो यह खबर आपके काम की है

आरकॉम के लिखे पत्र के हवाले से सूत्र ने कहा, ‘...हम वास्तविक नियमन से अनभिज्ञ हैं जिसके तहत मोबाइल नंबर किसी भी कारण से दूसरे नेटवर्क पर जाने से टॉकटाइम की बची हुई राशि वापस करने का प्रावधान है... हम आपसे निर्देश वापस करने का अनुरोध करते हैं.’ यह बात ऐसे समय उठी है जब आरकॉम ने अपना स्पेक्ट्रम, टावर, आप्टिकल फाइबर नेटवर्क तथा अन्य वायरलेस संपत्ति अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी की दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो को बेचने की घोषणा की है.

(इनपुट एजेंसी से)

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरों के लिए क्लिक करें

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.