कोरोना वायरस: अफवाहों पर नकेल कसने के लिए एकजुट हुए सोशल प्लेटफार्म, उठाया ये बड़ा कदम

माइक्रोसोफ्ट ने वैश्विक महामारी से संबंधित जानकारी को ट्रेक करने के लिए कोरोना वायरस ट्रेकर को लॉन्च किया है. जबकि गूगल ने कोरोना वायरस स्क्रीनिंग साइट की शुरुआत की है.

कोरोना वायरस: अफवाहों पर नकेल कसने के लिए एकजुट हुए सोशल प्लेटफार्म, उठाया ये बड़ा कदम

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) से संबंधित तेजी से फैल रही गलत जानकारी पर नकेल कसने के लिए सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म एकजुट हो गए हैं. फेसबुक (Facebook), ट्विटर (Twitter), गूगल (Google), माइक्रोसोफ्ट (Microsoft) जैसी सोशल प्लेटफार्म कंपनियों ने अपनी साइट से कोरोना से संबंधित गलत जानकारी देने वाली पोस्ट को डिलीट करना शुरू कर दिया है. 

सभी कंपनियों ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक कॉमन जानकारी साझा करते हुए लिखा है कि हम COVID-19 के खिलाफ जारी जंग में एकजुट होकर काम कर रहे हैं. हम लाखों लोगों को संयुक्त रूप से जुड़े रहने में मदद करने के साथ ही संयुक्त रूप से वायरस के बारे में धोखाधड़ी और गलत सूचना कर प्रसारण करने वाली पोस्ट का भी सामना कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि सोशल प्लेटफार्मों पर आधिकारिक सामग्री को बढ़ावा दिया जा रहा है और सरकारी स्वास्थ्य एजेंसियों के साथ समन्वय में महत्वपूर्ण अपडेट नियमित रूप से साझा कर रहे हैं. 

बताते चलें कि कुछ ही दिन पहले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक और इंस्टाग्राम ने अपने प्लेटफॉर्म पर मेडिकल फेस मास्क बेचने वाले विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगा दिए हैं, ताकि लोगों से कोरोना वायरस आपातकाल का फायदा न उठाया जा सके. फेसबुक पर ट्रस्ट/इंटिग्रिटी टीम (विज्ञापनों और वाणिज्यिक उत्पादों के लिए) का नेतृत्व करने वाले रॉब लीथर्न ने ट्विटर पर इस निर्णय की घोषणा की. वहीं माइक्रोसोफ्ट ने वैश्विक महामारी से संबंधित जानकारी को ट्रेक करने के लिए कोरोना वायरस ट्रेकर को लॉन्च किया है. जबकि गूगल ने कोरोना वायरस स्क्रीनिंग साइट की शुरुआत की है.

इसी कड़ी में अमेजन ने भी अपनी साइट से ऐसे प्रोडक्ट को हटाना शुरू कर दिया है जो कोरोना वायरस जैसी गंभीर बीमारी को खत्म करने और उसके प्रभाव को कम करने जैसे झूठे वादे कर रहे हैं. कोरोना वायरस के मद्देनजर लोगों की भलाई के लिए उठाया गया ये कदम काफी सराहनीय है. बताते चलें कि अब तक पूरी दुनिया में करीब 192 देश इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं. इस वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 3 लाख से ऊपर पहुंच चुकी है जबकि 16,362 लोग इस गंभीर बीमारी की चपेट में आकर अपना दम तोड़ चुके हैं.

ये भी देखें:- आपकी इंटरनेट स्पीड कम हो रही है क्योंकि आप यह काम कर रहे हैं