WhatsApp पेमेंट सर्विस पर सुप्रीम कोर्ट ने RBI से मांगा जवाब

WhatsApp पेमेंट सर्विस के अनुपालन मामले में सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को रिपोर्ट दाखिल करने के लिए छह हफ्ते का समय दिया है. आरबीआई को WhatsApp की पेमेंट सर्विस के मामले में रिपोर्ट दाखिल करनी होगी कि क्या व्हाट्सएप ने नियमों का पालन किया है.

WhatsApp पेमेंट सर्विस पर सुप्रीम कोर्ट ने RBI से मांगा जवाब

नई दिल्ली : WhatsApp पेमेंट सर्विस के अनुपालन मामले में सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को रिपोर्ट दाखिल करने के लिए छह हफ्ते का समय दिया है. आरबीआई को WhatsApp की पेमेंट सर्विस के मामले में रिपोर्ट दाखिल करनी होगी कि क्या व्हाट्सएप ने नियमों का पालन किया है. व्हाट्सएप की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने न्यायमूर्ति रोहिंगटन फली नरीमन की अध्यक्षता वाली पीठ को बताया कि व्हाट्सएप ने आरबीआई के डाटा लोकलाइजेशन मानकों का पालन किया है और वह इसकी रिपोर्ट आरबीआई के पास सौंपेगी जिसके लिए कुछ समय की आवश्यकता है.

इस साल के अंत तक शुरू हो सकती है पेमेंट सर्विस
कुछ समय पहले व्हाट्सएप के ग्रुप हेड विल कैथकार्ट ने इस बात के संकेत दिए थे कि कंपनी भारत में इस साल के अंत तक WhatsApp पेमेंट सर्विस की शुरुआत कर सकती है. उन्होंने एक समारोह में अपनी बात रखते हुए कहा था कि वह इस अपने इस पेमेंट सर्विस को मैसेज भेजने जितना आसान बनाना चाहते हैं. अगर WhatsApp पेमेंट सर्विस भारत में शुरू होती है तो इसे भारत जैसे विशाल बाजार में पेटीएम, फोन पे, गूगल पे और अन्य कंपनियों से सीधा मुकाबला करना होगा.

10 लाख यूजर के साथ चल रही टेस्टिंग
आपको बता दें कंपनी भारत में पिछले साल से लगातार 10 लाख यूजर के साथ पेमेंट सर्विस की टेस्टिंग कर रही है. भारत में WhatsApp के करीब 40 करोड़ से भी ज्यादा यूजर हैं. इस लिहाज से कंपनी को उम्मीद है कि भारत में उसे एक बड़ा बाजार आसानी से मिल सकता है. व्हाट्सऐप के दुनिया भर में करीब 150 करोड़ यूजर हैं.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के मुताबिक कि भारत के दूसरे चंद्र मिशन चंद्रयान -2 की अभी तक की सारी गतिविधियां सामान्य है. शुक्रवार को चंद्रयान 2 धरती की चौथी कक्षा में सफलतापूर्वक पहुंचेगा गया है. इसी के साथ यान का आखिरी ऑर्बिट 6 अगस्त को पहुंचेगा. इसरो ने इससे पहले बताया था कि चंद्रयान-2 को धरती की तीसरी कक्षा में सफलतापूर्वक और ऊंचाई पर पहुंचा दिया गया है.