बढ़ता दबाव देख TikTok बीजिंग से समेट रही बोरिया-बिस्‍तर, इस शहर में होगा नया हेडक्वाटर

कहा जा रहा है कि ब्रिटिश मिनिस्‍टर्स द्वारा अप्रूव किए गए एक सौदे के तहत बाइटडांस अपने हेडक्‍वार्टर को बीजिंग से लंदन शिफ्ट कर सकती है. 

बढ़ता दबाव देख TikTok बीजिंग से समेट रही बोरिया-बिस्‍तर, इस शहर में होगा नया हेडक्वाटर
फाइल फोटो

लंदन: भारत समेत दुनिया के कुछ और देशों में TikTok बैन किए जाने के बाद इसकी मालिक कंपनी ByteDance को लेकर बड़ी खबर आ रही है. कहा जा रहा है कि ब्रिटिश मिनिस्‍टर्स द्वारा अप्रूव किए गए एक सौदे के तहत बाइटडांस अपने हेडक्‍वार्टर को बीजिंग (Beijing) से लंदन (London) स्थानांतरित कर सकती है. द सन न्‍यूजपेपर के अनुसार, बाइटडांस के संस्थापक जल्द ही लंदन में अपने हेडक्‍वार्टर को शिफ्ट करने के इरादे की घोषणा करने वाले हैं.

इस कदम से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( US President Donald Trump) के उस विचार को झटका लग सकता है, जिसके तहत वह संयुक्त राज्य अमेरिका में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने की योजना बना रहे थे.

माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प ने रविवार को कहा कि वह लोकप्रिय शॉर्ट-वीडियो ऐप TikTok को चीनी इंटरनेट दिग्गज कंपनी बाइटडांस से अधिग्रहित करने के लिए अपनी चर्चा जारी रखेगा. उसका लक्ष्‍य आगामी 15 सितंबर तक इस चर्चा को खत्‍म करने का है. 

यह भी पढ़ें: Sushant Singh Rajput ने Google पर ऐसी मौत के बारे में जानना चाहा था, जिसमें...

माइक्रोसॉफ्ट ने बयान में कहा, 'माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला और राष्ट्रपति डोनाल्ड जे ट्रंप के बीच हुई बातचीत के बाद, माइक्रोसॉफ्ट संयुक्त राज्य अमेरिका में टिकटॉक को खरीदने की चर्चा जारी रखने के लिए तैयार है.'

इस मामले से जुड़े दो लोगों ने रविवार को बताया कि ट्रंप ने चाइना की कंपनी बाइटडांस को इस चर्चा के लिए 45 दिनों का समय देने के लिए सहमति जता दी है, ताकि कंपनी इस दौरान माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प से टिकटॉक की बिक्री पर बातचीत कर सके. 

ये भी देखें- अब TikTok की जगह लेगा instagram का ये नया फीचर!

ट्रंप ने शुक्रवार को कहा था कि माइक्रोसॉफ्ट को टिकटॉक बेचने का विचार खारिज किए जाने के बाद वह संयुक्त राज्य अमेरिका में इस ऐप पर प्रतिबंध लगाने की योजना बना रहे थे. हालांकि यह तुरंत स्पष्ट नहीं हो सका कि किस चीज ने ट्रम्प को अपना विचार बदलने पर मजबूर किया.

यदि माइक्रोसॉफ्ट टिकटॉक को खरीदने में कामयाब हो जाता है तो वह सोशल मीडिया दिग्गज जैसे फेसबुक इंक और स्नैप इंक के लिए एक प्रमुख प्रतियोगी बन जाएगा. माइक्रोसॉफ्ट पहले से ही पेशेवर सोशल मीडिया नेटवर्क LinkedIn का भी मालिक है.