close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एक महीने में मोबाइल यूजर्स की संख्या 2.18 करोड़ घटी, TRAI ने कहा घबराने वाली बात नहीं

ट्राई के चेयरमैन आर एस शर्मा ने कहा कि यह उतार-चढ़ाव न्यूनतम रिचार्ज प्लान की वजह से है और समय के साथ चीजें ठीक हो जाएंगी.

एक महीने में मोबाइल यूजर्स की संख्या 2.18 करोड़ घटी, TRAI ने कहा घबराने वाली बात नहीं
एयरटेल के मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या में 1.51 करोड़ की कमी आई है. (फाइल)

नई दिल्ली: भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने कहा है कि हाल में मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या में आई कमी चिंता की बात नहीं है और नियामक को किसी तरह का हस्तक्षेप करने की जरूरत नहीं है. ट्राई के चेयरमैन आर एस शर्मा ने कहा कि यह उतार-चढ़ाव न्यूनतम रिचार्ज प्लान की वजह से है और समय के साथ चीजें ठीक हो जाएंगी. ट्राई के आंकड़ों के अनुसार देश में मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या 31 मार्च, 2019 को घटकर 116.18 करोड़ पर आ गई. यह इससे पिछले महीने की तुलना में 2.18 करोड़ की कमी है. मार्च के अंत तक देश में कुल फोन घनत्व घटकर 90.11 रह गया जो फरवरी के अंत तक 91.86 था. 

शर्मा ने हालांकि मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या में कमी को नजरअंदाज करते हुए कहा कि इस तरह का उतार-चढ़ाव कई कारणों से है. मसलन दूरसंचार आपरेटरों ने कनेक्शनों को सक्रिय रखने के लिए मासिक न्यूनतम रिचार्ज शुरू किया है. इससे ऐसे कनेक्शन हट गए हैं जो सक्रिय नहीं थे. उन्होंने पीटीआई भाषा से कहा कि मुझे नहीं लगता है कि यह चिंता की बात है. यह पूछे जाने पर कि क्या नियामक इस मामले में हस्तक्षेप करेगा, शर्मा ने कहा कि हस्तक्षेप करने का सवाल नहीं खड़ा होता. ट्राई प्रमुख ने कहा कि जिस तरह से लोग डेटा सेवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं मुझे विश्वास है कि बाजार ठहरेगा नहीं. 

Airtel और वोडाफोन ने गंवाए 3 करोड़ ग्राहक, Jio ने फिर गाड़े झंडे

ट्राई के आंकड़ों के अनुसार मार्च के अंत तक इससे पिछले महीने की तुलना में वोडाफोन आइडिया तथा भारती एयरटेल के मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या में क्रमश: 1.45 करोड़ और 1.51 करोड़ की कमी आई. वहीं माह के दौरान रिलायंस जियो ने 94 लाख नए ग्राहक जोड़े. मार्च, 2019 के अंत तक कुल मोबाइल ग्राहकों की संख्या घटकर 116.18 करोड़ पर आ गई, जो फरवरी के अंत तक 118.36 करोड़ थी.