close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: सावधान! कहीं आपकी बातचीत रिकॉर्ड तो नहीं हो रही

कहीं घर की बातें बाहर ना निकल जाएं. अब सूचना और तकनीक के नये दौर में ये कहावत भी हाई-टेक हो गई है.

ZEE जानकारी: सावधान! कहीं आपकी बातचीत रिकॉर्ड तो नहीं हो रही

आपने पुराने ज़माने में अक्सर लोगों को ये कहते हुए सुना होगा कि ज़रा धीरे बोलो, दीवारों के भी कान होते हैं. कहीं घर की बातें बाहर ना निकल जाएं. अब सूचना और तकनीक के नये दौर में ये कहावत भी हाई-टेक हो गई है और अब बातें दीवारों से नहीं बल्कि आपके Smart Phone, Smart Speaker और Artificial intelligence के ज़रिये घर से बाहर.. कंपनियों के Server में जा रही हैं. अगर आपके घर में Google Assistant, Amazon Alexa या Apple के Siri Voice Assistant का इस्तेमाल करने वाले स्पीकर हैं, तो आपको सावधान हो जाना चाहिए क्योंकि ये स्पीकर आपकी निजी बातों को सुनकर अपने Server पर भेज देते हैं और आपके इस निजी संवाद का गलत इस्तेमाल हो सकता है. 

Bloomberg की एक रिपोर्ट के मुताबिक Amazon अपने स्मार्ट स्पीकर Alexa के ज़रिए लोगों की निजी बातें रिकॉर्ड कर रहा है .

इसके लिए Amazon की एक विशेष टीम के कर्मचारी रोज़ाना अपनी 9 घंटे की शिफ्ट में करीब 1 हज़ार Audio Clips को सुनते हैं . 

ऐसा करके ये कर्मचारी Amazon के लिए एक Data Record तैयार कर रहे हैं . 

लोगों की निजी बातें रिकॉर्ड करने का खुलासा सबसे पहले तब हुआ था जब अमेरिका के एक शहर Portland में रहने वाले एक पति-पत्नी की बातचीत उनके Smart Speaker ने Leak कर दी थी. हैरानी की बात ये है कि बातचीत Leak होने की जानकारी उस व्यक्ति ने दी जिसके बारे में ये पति-पत्नी बात कर रहे थे . जब इसकी शिकायत ((Amazon)) कंपनी से की गई तो उसने इस पूरे मामले पर माफी मांगी और ये सफाई दी कि उनका जासूसी का कोई इरादा नहीं था. 

आम तौर पर इन Speakers को Music सुनने या इंटरनेट से जानकारी लेने के लिए इस्तेमाल किया जाता है . इसके लिए आपकी Voice Command यानी आपकी आवाज़ की पहचान करके ...आपके निर्देशों का पालन किया जाता हैं . सबसे पहले आप ये समझिये कि ये Smart Speakers किस तरह काम करते हैं और कैसे... आपकी बातें सुनकर अपने Server को भेज देते हैं . 

जब आप किसी गाने को सुनने के लिए या फिर कोई सूचना पाने के लिए इन Speakers को निर्देश देते हैं तो ये Alert हो जाते और इंटरनेट की ज़रिये आपके निर्देश को अपने Server तक पहुंचाते हैं . इसके बाद Artificial intelligence के ज़रिये Data Base से आपके सवाल का जवाब ढूंढा जाता है और जब ये जवाब मिल जाता है तो इसे वापस Speaker को भेज दिया जाता है और स्पीकर आपको ये जवाब सुना देता है. ये पूरी प्रकिया इतनी जल्दी होती है कि आप इसके दूसरे पहलुओं पर ध्यान नहीं देते. 

अक्सर लोग ये समझते हैं ये Smart Speaker उनकी आवाज़ से Active होते हैं जबकि सच ये है कि ये हमेशा Active रहते है . ये लगातार आपकी बातों को सुनते रहते हैं. ये एक लगातार चलने वाली प्रकिया है जिसे स्पीकर पर मौजूद Mute का बटन दबाकर ही बंद किया जा सकता है. 

यहां आपको ये बात समझनी चाहिए कि किसी स्पीकर के Active रहने और उसके Alert होने में बहुत बारीक अंतर है . ये Speaker आपकी आवाज़ में बोले गये Code Word से Alert होते हैं. यानी जब आप Alexa, Hey Google या Hey Siri जैसे Code Word बोलते हैं तो ये स्पीकर आपकी बात का जवाब देते हैं और जब आप अपने घर में सामान्य बातचीत करते हैं तो ये आपकी बात का जवाब नहीं देते. लेकिन चिंता की बात ये है कि ये स्मार्ट स्पीकर आपकी सामान्य बातचीत भी सुन रहा होता है. यानी ये स्पीकर हमेशा Active रहता है . 

इसमें ध्यान देने वाली बात ये है कि Smart तकनीक के ज़माने में आपको भी Smart होने की ज़रूरत है वर्ना आपकी एक गलती से आपकी सारी निजी बातें सार्वजनिक हो सकती हैं. अगर आप Smart Speaker के गलत इस्तेमाल से बचाना चाहते हैं तो हमारी अगली रिपोर्ट ज़रूर देखिए . इसमें आपको कुछ Smart टिप्स भी मिलेंगे .