वीकेंड को न बनाएं बोरिंग, 2 दिन की छुट्टियों में घूम आइये देश की ये जगहें

मुक्तेश्वर नैनीताल से करीबन 52 किलोमीटर की दूरी पर है. 

वीकेंड को न बनाएं बोरिंग, 2 दिन की छुट्टियों में घूम आइये देश की ये जगहें
फाइल फोटो

नई दिल्ली: ज्यादातर हम अपना वीकेंड खाने-पीने और नींद लेने में निकाल देते हैं. लेकिन क्या कभी सोचा है कि इन दो दिनों में आप कहीं घूमने भी जा सकते हैं. हम अक्सर यही सोचकर खुद को रोक लेते हैं कि 2 दिन कहीं घूमने के लिए बेहद ही कम हैं. तो आज हम लाएं हैं आपके लिए बेहद ही खूबसूरत घूमने लायक ये हिल स्टेशन, जहां न सिर्फ आप घूम सकते हैं बल्कि कई एडवेंचर भी कर सकते हैं... 

मुक्तेश्वर
मुक्तेश्वर उत्तर भारत के उत्तराखंड में एक हिल स्टेशन है. इस जगह का नाम हिंदू भगवान शिव को समर्पित 350 साल पुराने मंदिर के नाम पर पड़ा है, जो मुक्तेश्वर धाम के नाम से जाना जाता है. मुक्तेश्वर नैनीताल से करीबन 52 किलोमीटर की दूरी पर है. आपको बता दें कि दिल्ली से सड़क मार्ग द्वारा मुरादाबाद-हल्द्वानी-काठगोदाम-भीमताल होते हुए लगभग आठ घंटे की ड्राइव करके मुक्तेश्वर पहुंचा जा सकता है. आप सिर्फ दो दिनों में भी ये जगह घुम कर वापिस आ सकते हैं. यहां आप मुक्तेश्वर मंदिर, सीतला एस्टेट, चौली की जाली के अलावा बेहद ही खुबसूरत फलों के बाग भी घूम सकते हैं.


मुक्तेश्वर

कुफरी
हिमाचल हमेशा से खूबसूरत वादियों, बर्फ से ढंके पहाड़ों, सुंदर झीलों के लिए प्रसिद्ध है. वहीं सर्दी के मौसम में यहां बसा  पर्यटन स्थल “कुफरी” बर्फ की चादर ओढ़े ओर भी खूबसूरत हो उठता है. शिमला से करीब 22 किमी. दूर स्थित कुफरी हॉर्स राइडिंग, बंज्जी जंपिंग, रोप क्लाइम्बिंग, जिप लाइनिंग जैसे एडवेंचर के लिए काफी पसंद किया जाता है. इस जगह का नाम ‘कुफ्र’ शब्द से पड़ा है, जिसका स्थानीय भाषा में मतलब है ‘झील’ होता है. 


कुफरी

रानीखेत 
नैनीताल से 60 किमी की दूरी पर है अल्मोड़ा शहर, और इसीसे थोड़ा आगे 50 किमी पर है रानीखेत. रानीखेत में घूमने लायक द्वारहाट, भालू बांध, ताड़ीखेत, कुमाऊं रेजीमेंट गोल्फ कोर्स, छावनी आशियाना पार्क, सनसेट प्वाइंट और खूंट के अलावा सीताखेत, जौरासी और खैराना भी घूमने लायक जगह है. रानीखेत में पर्यटक सदर बाजार से खरीददारी का लुत्फ उठा सकते हैं. 

इस बाजार में आपको कई रेस्तरां और होटल मिले जाएंगे जहां से आप यहां की फेमस डिशेज का आनंद ले सकते हैं. इसी बाजार से टूरिस्ट्स वहां की संस्कृति से जुड़ी चीजें और विशिष्ट रूप से कढ़ाई वाले कपड़ों की खरीदारी भी कर सकते हैं. आपको यहां ट्वीड शॉल, ऊनी शर्ट, जैकेट और कुर्ते आराम से मिल जाएंगे.

 


रानीखेत 

त्रिउंड 
हिमाचल प्रदेश का त्रिउंड अपने ट्रैक के लिए खासा फेमस है. ज्यादातर लोग यहां एडवेंचर के लिए ही जाते हैं. त्रिउंड करीब दस हजार फुट की ऊंचाई पर स्तिथ है. इस ट्रैक का सफर शुरू होता है मैक्लोडगंज से जो तिब्बत की निर्वासित सरकार की राजधानी है. बता दें कि दलाई लामा की पीठ होने के चलते यह दुनिया भर के बौद्धों के लिए आस्था का एक प्रमुख केंद्र है. त्रिउंड के रास्ते में आपको शर्मशाला, धर्मकोट, मैक्लोडगंज जैसे बेहद ही खूबसूरत हिल स्टेशन देखने को मिलेंगे. 


त्रिउंड