गोवा एक बार फिर मौज मस्ती के लिए खुला, लेकिन जाने से पहले जान लीजिए ये नियम

इस बार Goa में कुछ कड़े नियम कानून भी लागू हो रहे हैं. अगर आपने जरा सी चूक की तो आपके मौज मस्ती की प्लानिंग सजा भी बन सकती है. 

गोवा एक बार फिर मौज मस्ती के लिए खुला, लेकिन जाने से पहले जान लीजिए ये नियम

नई दिल्ली: जी हां, गोवा (Goa) एक बार फिर सैर-सपाटे कि लिए खुल गया है. लंबे लॉकडाउन के बाद अगर आपका भी मन है कि सुंदर समुद्र किनारे टहलें तो अब ये सपना भी पूरा होने वाला है. लेकिन इस बार कुछ कड़े नियम कानून भी लागू हो रहे हैं. अगर आपने जरा सी चूक की तो आपके मौज मस्ती की प्लानिंग सजा भी बन सकती है. 

इन तीन नियमों का पालन बेहद जरूरी
होटल की प्री-बुकिंग जरूरी: गोवा सरकार द्वारा जारी नए दिशा-निर्देश (Guidelines) के अनुसार अब किसी भी सैलानी को गोवा में प्रवेश करने के लिए होटल की प्री-बुकिंग (Pre Booking) जरूरी है. 
सेल्फ डिक्लेयरेशन: होलट में बुकिंग के दौरान आपको एक सेल्फ डिक्लेयरेशन करना होगा कि आप कोरोना वायरस पॉजिटिव नहीं हैं. 
कोरोना फ्री होने का प्रमाण पत्र: गोवा सरकार ने कहा है कि टूरिस्टों को राज्य में प्रवेश करने के लिए डॉक्टर से कोरोना फ्री होने का प्रमाण पत्र (Health Certificate) साथ रखना होगा.

कुछ और भी हैं नियम
- सड़क, हवाई या जल मार्ग से गोवा पहुंचने पर सभी सैलानियों की थर्मल जांच होगी.
- आपके होलट बुकिंग के कागजों की जांच भी होगी
- अगर आपके पास डॉक्टर से जारी कोरोना फ्री सर्टिफिकेट नहीं होगा तो स्वैब जांच कराना होगा
- गोवा में हुए जांच में पॉजिटिव पाए जाने पर आपको राज्य के भीतर ही क्वारंटीन किया जा सकता है

ये भी पढ़ें- Big Breaking: 15 अगस्त को लॉन्च हो सकती है देश की पहली कोरोना वैक्सीन

उल्लेखनीय है कि 25 मार्च को पूरे देश में लॉकडाउन घोषित होने के बाद से ही गोवा भी टूरिस्टों के लिए बंद कर दिया गया था. 1 जुलाई को अनलॉक प्रक्रिया के तहत ही गोवा को टूरिस्टों के लिए खोला जा रहा है.