दुनिया का सबसे अनोखा होटल, एक देश में बार तो दूसरे में बना है बाथरूम

नई दिल्ली: दुनिया में बड़ी ही अजब-गजब जगह मौजूद हैं जिनके बारे में जानकर हम सबको हैरानी हो सकती है. कभी आप किसी होटल में गए और वहां आपसे पूछा जाए कि आप किस देश के कमरे में ठहरना चाहते हैं तो आपका रिएक्शन क्या होगा. अगर किसी होटल के बेडरूम एक देश में और बाथरूम दूसरे मुल्क में हों तो? ये सब हैरान करने वाला है लेकिन सच है. चलिए आपको ऐसे ही एक अनोखे होटल की सैर कराते हैं.

Sep 28, 2021, 18:40 PM IST
1/5

दो देशों में फैला अनोखा होटल

Arbez Franco Suisse hotel

फ्रांस और स्विट्जरलैंड के बॉर्डर पर एक ऐसा होटल बना है जहां करवट लेने के साथ ही आप दूसरे देश में पहुंच सकते हैं. इसका नाम है अरबेज फ्रेंको सुइस (Arbez Franco Suisse). अपनी अनोखी खासियत के लिए यह पूरी दुनिया में मशहूर है और पर्यटक होटल में मौज-मस्ती के लिए आते हैं, साथ ही एक विजिट में दो देशों को अनुभव पाते हैं.

2/5

फ्रांस और स्विट्जरलैंड बॉर्डर पर बसा

hotel is located in La Cure area

अरबेज होटल फ्रांस-स्विट्जरलैंड बॉर्डर पर बसे ला क्योर गांव में पड़ता है. यह होटल ठीक बॉर्डर लाइन के ऊपर बना है और इसका एक तिहाई हिस्सा स्विट्जरलैंड में आता है जबकि दो तिहाई फ्रांस में है. लोग इसे स्विस और फ्रांसीसी होटल, दोनों ही नाम से पुकारते हैं.

3/5

करवट के साथ बदल जाता है देश

people move from one country to another

जिनेवा से कुछ दूरी पर बना यह होटल दो देशों में फैला हुआ है. इस होटल का बार स्विट्जरलैंड में पड़ता है तो बाथरूम (Bathroom) फ्रांस में आते हैं. इस होटल में सभी कमरों को दो हिस्सों में बांटा गया है. सोते हुए करवट लेने के दौरान भी आप यहां एक देश से दूसरे देश की सीमा में दाखिल हो सकते हैं. 

4/5

दोनों देशों के कल्चर की झलक

hotel comes in both countries

अंदर की सजावट भी दोनों देशों के कल्चर के मुताबिक की गई है. कमरों में बेड इस तरह से लगाए गए हैं कि आधे फ्रांस में आएं तो आधे स्विट्जरलैंड वाले हिस्से में पड़ें. यहां तक कि रूम के तकिए भी दोनों देशों के हिसाब से ही लगाए गए हैं.

5/5

किस देश में ठहरना चाहते हैं आप?

bar in Switzerland and bathroom in France

करीब 150 साल पुराना यह अनोखा होटल टू स्टार कैटगरी में आता है. इसकी खासियत और पहचान की वजह से हजारों पर्यटक यहां घूमने आते हैं और तब उनसे बाकायदा पूछा जाता है कि आप किस देश के कल्चर में रहना चाहेंगे, फिर कस्टमर की डिमांड के मुताबिक ही उसे सुविधाएं मुहैया कराई जाती हैं.