TDP का मोदी सरकार पर तंज, आंध्र को मिला बजट 'बाहुबली' के कलेक्शन से भी कम

तेदेपा के जयदेव गल्ला ने बजट पर चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि अगर आंध्र प्रदेश की जनता से किये गये वादे पूरे नहीं किये जाते तो उनकी पार्टी का भाजपा नीत सरकार और गठबंधन में बने रहने का क्या औचित्य है.

TDP का मोदी सरकार पर तंज, आंध्र को मिला बजट 'बाहुबली' के कलेक्शन से भी कम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू. (PTI/File)

नई दिल्ली: आम बजट में आंध्रप्रदेश की अनदेखी पर तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) ने बुधवार (7 फरवरी) को केंद्र सरकार को चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर प्रदेश की जनता से किये गये वादे पूरे नहीं किये जाते तो उनकी पार्टी का गठबंधन में रहने का कोई मतलब नहीं है. तेदेपा के जयदेव गल्ला ने बजट पर चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि अगर आंध्र प्रदेश की जनता से किये गये वादे पूरे नहीं किये जाते तो उनकी पार्टी का भाजपा नीत सरकार और गठबंधन में बने रहने का क्या औचित्य है और इस बारे में उनके धैर्य की बहुत परीक्षा हो चुकी. उन्होंने चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि वे सरकार और वित्त मंत्री से आंध्र प्रदेश को लेकर किये गये सभी वादों को पूरा करने की मांग करते हैं अन्यथा उनके पास भाजपा के साथ रिश्तों पर पुनर्विचार करने के अलावा कोई विकल्प नहीं होगा.

जयदेव गल्ला ने इस दौरान आंध्रप्रदेश को मिले बजट की तुलना फिल्म बाहुबली के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन से की. उन्होंने लोकसभा में कहा, 'आम बजट में आंध्र प्रदेश को मिला आवंटन ब्लॉक बस्टर तेलुगू फिल्म 'बाहुबली' के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन से भी कम है.' फिल्म बाहुबली- 2 द कॉन्क्लूज़न का भारत और विदेश के बाजर में कुल कलेक्शन 1700 करोड़ रुपया है.

कांग्रेस मुक्त भारत, नरेंद्र मोदी का नहीं गांधी का विचार है: प्रधानमंत्री ने संसद में कहा

भाजपा को तेदेपा की चेतावनी
राजधानी अमरावती, पोलावरम, राज्य को विशेष पैकेज और रेलवे जोन का बजट में कोई उल्लेख नहीं होने पर केंद्र को धमकी भरे अंदाज में जयदेव गल्ला ने कहा कि अगर केंद्र सरकार सोच रही है वह गठबंधन टूटने के बाद आंध्रप्रदेश में चुनाव से पहले मजबूत हो जाएगी और तेदेपा को कमजोर कर देगी तो उसे कांग्रेस का हाल देख लेना चाहिए जिसका आंध्र प्रदेश से कोई सांसद और विधायक नहीं है.

राजग सरकार निभाए गठबंधन धर्म 
गल्ला ने कहा कि भाजपा नीत राजग सरकार के पास यह अंतिम मौका है. उसे गठबंधन धर्म निभाना चाहिए. उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेटली से राज्य के लिए तुरंत वित्तीय पैकेज जारी करने की मांग की . तेलंगाना राष्ट्र समिति के एपी जितेंद्र रेड्डी ने भी आंध्र प्रदेश के सदस्यों की मांग पूरी किये जाने का समर्थन किया. उन्होंने कहा कि इस बार का बजट संशय पैदा करने वाला है और इसमें स्पष्ट नहीं है कि किसके लिए कितना बजट है. इसके अलावा किसानों की एमएसपी बढ़ाने, आयुष्मान स्वास्थ्य बीमा योजना के क्रियान्वयन का कोई ब्योरा भी नहीं है.

बैंकों का एनपीए कांग्रेस के पाप का नतीजा, देश उसे माफ नहीं करेगा: पीएम नरेंद्र मोदी

रेड्डी ने कहा कि तेलंगाना राज्य अच्छी प्रगति कर रहा है और केंद्र को उसे और सहयोग देना चाहिए. माकपा के पी करुणाकरण ने कहा कि चुनावी साल होने और कई राज्यों में चुनाव नजदीक होने की वजह से यह बजट चुनावी लगता है. उन्होंने तेदेपा सदस्यों के विरोध का जिक्र करते हुए कहा कि जब सरकार अपने गठबंधन सहयोगी को संतुष्ट नहीं कर पा रही तो अन्य दलों को कैसे करेगी. उन्होंने महिला आरक्षण विधेयक को पारित कराने की मांग भी सरकार से की.

(इनपुट एजेंसी से भी)