close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जब लोकसभा में दिखा वित्त मंत्री का शायराना अंदाज, 'यकीन हो तो...'

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सुबह 11 बजे लोकसभा में बजट भाषण पढ़ना शुरू कर दिया है. बजट भाषण की शुरुआत वित्त मंत्री ने जनता का धन्यवाद देकर की. मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह पहला बजट है.

जब लोकसभा में दिखा वित्त मंत्री का शायराना अंदाज, 'यकीन हो तो...'

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सुबह 11 बजे लोकसभा में बजट भाषण पढ़ना शुरू कर दिया है. बजट भाषण की शुरुआत वित्त मंत्री ने जनता का धन्यवाद देकर की. मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह पहला बजट है. बजट भाषण के दौरान वित्त मंत्री का शायराना अंदाज भी दिखाई दिया. उन्होंने बजट भाषण के बीच में एक शेर भी पढ़ा. निर्मला ने कहा, 'यक़ीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट भी ले कर चराग जलता है'. ये शेर मशहूर शायर मंजूर हाशमी का है. बजट भाषण केे दौरान वित्त मंत्री ने संस्कृत में भी श्लोक पढ़ा.

योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी आएगी
वित्त मंत्री ने कहा कि पिछले पांच साल में जिन योजनाओं को भी शुरू किया गया, उनमें तेजी लाई जाएगी. उन्होंने कहा कि बजट में न्यू इंडिया पर जोर है. वित्त मंत्री ने बताया कि भारतीय अर्थव्यवस्था बढ़कर 2.73 ट्रिलियर डॉलर तक पहुंच गई है. निर्मला सीतारमण ने कहा सरकारी प्रक्रिया और सरल बनाया जाएगा. देश का हर व्यक्ति बदलाव महसूस कर रहा है.

देश को प्रदूषण मुक्त बनाया जाएगा
खाद्य सुरक्षा पर खर्च को बढ़ाकर दोगुना किया जाएगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि पीएम मोदी के नेतृत्व में हम अपना हर लक्ष्य हासिल करेंगे. आज हम छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था हैं. पांच साल पहले यह 11वें नंबर पर थी. पिछले पांच सालों में हमने कई बड़े सुधार किए हैं. निर्मला सीतारमण ने बताया कि मुद्रा लोन के जरिये लोगों की जिंदगी में बदलाव आया है. हमने अपनी हर योजना पर अमल किया है. चूल्हे-चौके धुएं से देश को मुक्ति मिली है.