16 साल की लड़की से 33 लोगों ने 36 घंटे तक किया गैंगरेप

रियो डी जेनेरियो में 16 साल की लडक़ी से 33 लोगों ने 36 घंटे तक लगातार रेप किया। इतना ही नहीं, आरोपियों ने लडक़ी के फोटोज और वीडियो ट्विटर पर डाल दिए। इस पर लोग भडक गए और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। घटना के बाद तुरंत हरकत में आए प्रशासन ने ये अश्लील फोटोज हटाने के आदेश दिए।

16 साल की लड़की से 33 लोगों ने 36 घंटे तक किया गैंगरेप

साओ पाउलो: रियो डी जेनेरियो में 16 साल की लडक़ी से 33 लोगों ने 36 घंटे तक लगातार रेप किया। इतना ही नहीं, आरोपियों ने लडक़ी के फोटोज और वीडियो ट्विटर पर डाल दिए। इस पर लोग भडक गए और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। घटना के बाद तुरंत हरकत में आए प्रशासन ने ये अश्लील फोटोज हटाने के आदेश दिए।

ये दिल्ली के निर्भया गैंगरेप की तरह ही खौफनाक मामला बताया जा रहा है। मामला रियो शहर के एक स्लम इलाके का है। पिछले शुक्रवार रात को पीड़िता शहर के पश्चिमी हिस्से में अपने बॉयफ्रेंड के घर पर रुकने के लिए गई थी।

रविवार सुबह जब वह उठी तो उसने खुद को 33 लोगों से घिरा हुआ पाया। इनमें से कइयों के हाथ में पिस्तौल और राइफलें थीं। इसके बाद इन लोगों ने 36 घंटे से ज्यादा वक्त तक इस लडक़ी से गैंगरेप किया। इस भीषण हादसे के बाद अस्पताल में भर्ती लडक़ी गहरे सदमे में है।

यह हादसा ऐसे समय में हुआ है जब दो माह बाद ब्राजील के इस शहर में ओलंपिक खेल होने वाले है। लड़की से गैंगरेप का मामला तब सामने आया जब 800 से अधिक लोगों ने स्टेट पब्लिक प्रॉसिक्यूटर के कार्यालय से संपर्क साधा।

पुलिस ने 30 से अधिक वांछित लोगों में से चार की पहचान की

पुलिस ने लैटिन अमेरिका के सबसे बड़े देश में 16 वर्षीय लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार के मामले में चार लोगों की पहचान कर ली है और उसकी तलाश कर रही है। बलात्कार के मामले में 30 से अधिक लोग शामिल थे और इस घटना से महिलाओं के खिलाफ हिंसा की स्थानीक समस्या उजागर होती है।

लैंगिकता से संबंधित अपराधों पर विचार करने के लिए कार्यवाहक राष्ट्रपति मिशेल टेमर ने ब्राजील के राज्यों के सभी सुरक्षा मंत्रियों की एक आपात बैठक बुलायी थी जिसके बाद यह घोषणा की गयी है।

टेमर ने एक बयान में कहा है, ‘हम लोग 21 वीं सदी में रह रहे हैं और उसमें इस तरह के जघन्य अपराधों का होना विचित्र है।’ उन्होंने महिलाओं के खिलाफ अपराधों से निपटने के लिए एक संघीय पुलिस बल इकाई के गठन का वादा किया है।

हमले को लेकर कई लोगों द्वारा ऑनलाइन मजाक उड़ाये जाने, ग्राफिक्स फोटो और किशोरी के बेहोशी वाले निर्वस्त्र वीडियो जारी करने के बाद यह मामला प्रकाश में आया है।पुलिस ने चार लोगों को पकड़ने और अन्य लोगों की पहचान करने के लिए लोगों से मदद करने को कहा है।

स्थानीय रिपोर्ट में बताया गया है कि सूचना साझा करने के लिए बनाए गये एक हॉटलाइन पर 800 से अधिक लोगों ने फोन किया।अधिकारियों ने बताया कि यह घटना पिछले शनिवार को उस समय हुई जब लड़की रियो डी जनेरियो के पश्चिमी हिस्से में झुग्गी बस्ती इलाके साओ जोआओ में अपने ब्यॉयफ्रेंड के यहां गयी थी।

ओ ग्लोबो समाचारपत्र में एक संक्षिप्त बयान में 16 वर्षीय लड़की ने कहा, ‘मैं चाहती हूं कि भगवान न्याय करे । मैं तबाह हो गयी हूं।’ उसने कहा, ‘यह एक कलंक है जिससे मैं सबसे अधिक दुखी हूं । यह ऐसा है मानो लोग कह रहे हैं कि यह इसकी गलती है । उसने छोटे कपड़े पहने थे । मैं लोगों को बताना चाहती हूं कि यह पीड़ित औरत की गलती नहीं होती है।’