अमेरिका में पुलिस ने अफ्रीकी मूल के शख्स को घुटनों के नीचे दबाकर मार डाला

इस मामले में अबतक मिनीपोलिस के 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया जा चुका है. दबाए जाने के बाद शख्स ने पुलिस से सांस लेने में दिक्कत होने की बात भी बताई थी.

अमेरिका में पुलिस ने अफ्रीकी मूल के शख्स को घुटनों के नीचे दबाकर मार डाला

नई दिल्ली: अमेरिका में पुलिस ने अफ्रीकी मूल के शख्स को घुटनों के नीचे दबाकर मार डाला. इस मामले में अबतक मिनीपोलिस के 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया जा चुका है. दबाए जाने के बाद शख्स ने पुलिस से सांस लेने में दिक्कत होने की बात भी बताई थी.

इस मामले पर अधिकारियों का कहना है कि वर्तमान में एफबीआई इस मामले की जांच कर रही है. हालांकि घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पूरे अमेरिका में विरोध शुरू हो गया है. मेयर जैकब फ्रे ने इस घटना की निंदा की है और कहा कि अधिकारियों ने जॉर्ज फ्लॉयड के सिर को जमीन में दबाना विभाग के नियमों के खिलाफ है. फ्रे ने कहा कि पुलिस अधिकारी को आदमी की गर्दन पकड़ने की गलती नहीं करनी चाहिए थी. आपको बता दें कि यह घटना सोमवार को हुई थी. 

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी पर रविशंकर प्रसाद का जबरदस्त पलटवार, 'उनकी तो कांग्रेस की सरकारें भी नहीं सुनतीं'

जालसाजी के मामले में संदिग्ध का फ्लॉयड

पुलिस के मुताबिक, जालसाजी के एक मामले की जांच के दौरान उस शख्स को कार से बाहर निकलने का आदेश दिया गया था. जॉर्ज फ्लॉयड ने पुलिस अधिकारियों के साथ धक्कामुक्की की. जिसके जवाब में पुलिसकर्मियों ने उसे हथकड़ी लगाकर जमीन पर गिरा दिया. जिसके बाद एक पुलिस अधिकारी ने उसकी गर्दन को घुटनों पर दबा दिया. पुलिस ने बताया कि कुछ घंटे बाद उस शख्स की अस्पताल में मौत हो गई.

नागरिक अधिकार अटॉर्नी बेंजामिन क्रम्प ने एक बयान में कहा, 'हम सभी ने वीडियो पर जॉर्ज फ्लॉयड की बुरी मौत को देखा है. यह अपमानजनक और अमानवीय है.'