New Zealand के उत्तरी-पूर्वी तट पर महसूस किया गया 7.3 तीव्रता का Earthquake, Tsunami की चेतावनी

अधिकारियों के अनुसार, ये भूकंप इतनी तेज था कि मजबूत से मजबूत इमारतें भी गिर जाती हैं. इतना ही नहीं, जमीन के अंदर मौजूद पाइप भी फट जाते हैं. हालांकि अभी तक वहां किसी बड़े नुकसान या किसी के हताहत होने की खबर नहीं मिली है. 

New Zealand के उत्तरी-पूर्वी तट पर महसूस किया गया 7.3 तीव्रता का Earthquake, Tsunami की चेतावनी
फाइल फोटो.

वेलिंगटन: न्यूजीलैंड (New Zealand) के उत्तरी-पूर्वी तट पर गुरुवार को भूकंप (Earthquake) के बहुत तेज झटके महसूस किए गए, जिसे देखते हुए अधिकारियों ने सुनामी (Tsunami) के खतरे की चेतावनी दी है. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 7.3 मापी गई. हालांकि गनीमत रही कि इतने तेज भूकंप के बाद भी भारी नुकसान या किसी के हताहत होने की तत्काल खबर नहीं आई.

एजेंसी ने दी सुनामी की चेतावनी

न्यूजीलैंड की राष्ट्रीय इमरजेंसी मैनेजमेंट एजेंसी ने तट के पास रहने वाले लोगों को सलाह दी है कि अगर वे तेज या लंबे समय तक झटकों को महसूस करते हैं तो वे तुरंत ऊंचे मैदानी इलाकों में चले जाएं. भूकंप के बाद सुनामी आने की संभावना है. वहीं यूएस जियोलॉजिकल सर्वे ने बताया कि भूकंप का केंद्र जिस्बॉर्न शहर (Gisborne City) से लगभग 178 किलोमीटर दूर जमीन के 10KM नीचे था. 

ये भी पढ़ें:- हंसते-हंसते कट जाएगा ट्रेन का सफर, रेलवे शुरू करने जा रहा मोस्ट अवेटेड सर्विस

4 देशों में एक साथ आया था भूकंप

इससे पहले 13 फरवरी को एकसाथ 4 देशों में तेज भूकंप आया था. उस वक्त रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 7.5 मापी गई थी. चार देशों में अफगानिस्तान, भारत, पाकिस्तान और तजाकिस्तान का नाम शामिल है. उस वक्त भी भूकंप के झटके 8 राज्यों में महसूस किए गए थे और दहशत में लोग अपने-अपने घरों और दुकानों से बाहर निकल आए थे.

ये भी पढ़ें:- Kerala: 'मेट्रो मैन' होंगे BJP के CM उम्मीदवार, बीते हफ्ते थामा था पार्टी का हाथ

क्‍या होता है रिक्‍टर स्‍केल पर भूकंप का पैमाने?

0 से 1.9 : इस तीव्रता पर भूकंप आने पर सिर्फ सीज्मोग्राफ से ही पता चलता है.
2 से 2.9 : इस तीव्रता का भूकंप आने पर हल्का कंपन होता है.
3 से 3.9 : ऐसा असर होता है, जैसे कोई ट्रक आपके नजदीक से गुजरा हो.
4 से 4.9 : खिड़कियां टूट सकती हैं. दीवारों पर टंगे फ्रेम भी गिर सकते हैं.
5 से 5.9 : फर्नीचर हिल सकता है.
6 से 6.9 : इमारतों की नींव भी दरक सकती है और ऊपरी मंजिलों को नुकसान हो सकता है.
7 से 7.9 : इस तीव्रता में इमारतें गिर जाती हैं और जमीन के अंदर मौजूद पाइप भी फट जाते हैं.
8 से 8.9 : इमारतों सहित बड़े पुल भी गिर जाते हैं.
9 और उससे ज्यादा तीव्रता : इस तीव्रता का भूकंप काफी तबाही मचाता है. यह भूकंप इतना तेज होता है कि अगर कोई मैदान में खड़ा हो तो उसे धरती लहराते हुए दिखेगी. अगर समंदर नजदीक हो तो सुनामी आ सकती है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.