चीन में कोरोना से भी खतरनाक वायरस ने ली 7 की जान, दुनिया को गुमराह कर रहा बीजिंग

अभी दुनिया वुहान वायरस (Wuhan Virus) से उबर भी नहीं पाई है कि चीन में एक नए वायरस ने तबाही मचाना शुरू कर दिया है.

चीन में कोरोना से भी खतरनाक वायरस ने ली 7 की जान, दुनिया को गुमराह कर रहा बीजिंग
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अभी दुनिया वुहान वायरस (Wuhan Virus) से उबर भी नहीं पाई है कि चीन में एक नए वायरस ने तबाही मचाना शुरू कर दिया है. इस वायरस के चलते चीन में 7 लोगों की जान जा चुकी हैं, तो 67 अन्य लोग इससे संक्रमित मिले हैं. चीन में मिला ये वायरस जल्द ही इंसान से इंसान में फैलने और संक्रमित करने की ताकत हासिल कर सकता है. 6 अगस्त तक इस वायरस ने अपनी ताकत का प्रदर्शन कर दिया है और 7 लोगों की जान ले चुका है. इस वायरस को चीनी मीडिया एसएफटीएस (SFTS) नाम दे रही है.

ये वायरस पशुओं में मिलने वाले कीड़ों (किलनी) के काटने से फैल रहा है, जो जानवरों का खून चूसकर खुद को जिंदा रखते हैं. चीनी मीडिया (Chinese Media) की मानें तो इस बात की बड़ी संभावना है कि ये वायरस जल्द ही इंसान से इंसानों में फैलने की ताकत हासिल कर लेगा. चीन में लगातार ऐसे वायरस की मौजूदगी पाई जा रही है, जो मानवता पर बड़े खतरे के तौर पर उभरकर सामने आ सकते हैं.

चीन में स्वाइन फ्लू फैलाने वाला नए तरीके का भी एक वायरस मिला है. वायरस के नए-नए मामलों को देखते हुए दुनियाभर की मीडिया चीन को दुनिया की वायरस फैक्ट्री तक कह चुके हैं. हालांकि इन सबके बीच चीन फेक न्यूज फैलाने के प्रोपेगेंडा (Fake News Propaganda) में भी लिप्त है. जिसके माध्यम से वो दूसरे देशों में खतरनाक वायरसों की मौजूदगी का झूठा दावा कर रहा है. 

कुछ सप्ताह पहले कजाकिस्तान (Kazakhstan) की राजधानी नूर-सुल्तान में स्थित चीनी दूतावास ने एक फेक न्यूज का प्रोपेगेंडा चलाया, जिसमें चीनी दूतावास ने कजाकिस्तान में एक ऐसे वायरस के पनपने का दावा किया था, जिसमें कजाकिस्तान के सफाए का दावा भी था. चीनी दूतावास का दावा था कि ये वायरस कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक है. हालांकि ये दावा फेक साबित हुआ. चीनी दूतावास की इस कोशिश को भले ही कजाकिस्तान की सरकारें नजरअंदाज कर दिया हो, लेकिन कजाकिस्तान की जनता ने इसका तीखा विरोध किया और चीनी दूतावास के सामने जोरदार प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने चीनी राजदूत झांग जियाआवो को दंड देने की मांग की. इस पूरे घटनाक्रम में चीन की उस चाल का खुलासा हो गया, जिसमें वो फेक न्यूज़ फैलाकर खुद को बचाने का प्रयास कर रहा था.

गौरतलब है कि चीन के वुहान में सबसे पहले मिले कोरोना वायरस (Corona Virus) को वुहान वायरस भी कहा जा रहा है, जिसने अब तक दुनिया में 7 लाख लोगों से ज्यादा की जान ले ली है, तो करीब दो करोड़ लोग अबतक इससे संक्रमित हो गए हैं. अमेरिका, भारत, ब्राजील, ब्रिटेन, इटली, दक्षिण कोरिया, स्पेन जैसे देशों का बड़ी आबादी इससे प्रभावित हुई है. और दुनिया की बड़ी आबादी लॉकडाउन में रहने को मजबूर है.

VIDEO-