US न्यूज एंकर ने 'Chinese Virus' शब्द कहने के एक साल बाद मांगी माफी, ट्वीट में कही ये बात
X

US न्यूज एंकर ने 'Chinese Virus' शब्द कहने के एक साल बाद मांगी माफी, ट्वीट में कही ये बात

अपने ट्विटर पेज पर मेगेन (Meghan McCain) ने लिखा, 'वो एशियाई मूल वाले अमेरिकी समुदायों के खिलाफ हिंसक कार्रवाइयों और आरोपों की निंदा करती हैं. इसमें कोई शक नहीं है कि डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) के नस्लवादी बयानों ने इस तरह की हरकतों को प्रेरित किया था.' 

US न्यूज एंकर ने 'Chinese Virus' शब्द कहने के एक साल बाद मांगी माफी, ट्वीट में कही ये बात

बीजिंग: अमेरिकी न्यूज चैनल एबीसी (ABC) की होस्ट मेगेन मेखेन (Meghan McCain) ने अपने एक पुराने नस्लभेदी बयान (Racist Comment) के लिए माफी मांगी है. मेगेन ने हाल ही में इस विषय को लेकर अपने मन की बात साझा की है. उन्होंने कहा कि वो साल भर पहले कहे गए 'चीनी वायरस' (Chinese Virus) शब्द कहने के लिए माफी मांगना चाहती हैं. 

इसलिए दिया बयान: मेगेन

अपने ट्विटर पेज पर उन्होंने लिखा, 'वो एशियाई मूल वाले अमेरिकी समुदायों के खिलाफ हिंसक कार्रवाइयों और आरोपों की निंदा करती हैं. इसमें कोई शक नहीं है कि डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) के नस्लवादी बयानों ने इस तरह की हरकतों को प्रेरित किया था.' आगे उन्होंने कहा कि इसलिए अब मैं अपनी उस कहानी के लिए माफी मांगती हूं. गौरतलब है कि मेगेन मेखेन क्रमश: एबीसी और फॉक्स न्यूज में काम करती थीं. लंबे समय से वे टीवी पर लोकप्रिय रहीं. अपने एक प्रोग्राम में उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के हवाले से 'चीनी वायरस' शब्द का प्रयोग किया था. अब एक साल बाद उन्होंने आखिरकार संबंधित दलील के लिए क्षमा मांगी. लेकिन उनकी क्षमा मांगने का समय ध्यान देने योग्य है.

हाल में उनके पहले का वीडियो लोगों के सामने फिर आया, जिसने लोगों का ध्यान खींचा. साथ ही, हाल में अमेरिका में एशियाई मूल के अमेरिकियों (Asian-American community) के खिलाफ हिंसक गतिविधियां तेजी से बढ़ी हैं. इसी दबाव में उन्हें माफी मांगनी पड़ी होगी.

ये भी पढ़ें- Wion Global Summit: कोरोना के कारण वैश्विक जगत में 'पॉवर प्‍ले' के लिए खेल का मैदान बदला: एस जयशंकर

ऐसे बयानों से बढ़ी हिंसा!

रिपोर्ट है कि एशियाई मूल के अमेरिकियों का मानना है कि कोविड-19 (Covid-19) वायरस को 'चीनी वायरस' का नाम देने से उनके खिलाफ हिंसक कार्रवाइयों को बड़े हद तक प्रेरित किया गया है. गौरतलब है कि पिछले कुछ हफ्तों में अमेरिका के कई शहरों में एशियाई मूल के अमेरिकियों के खिलाफ लगातार हिंसक वारदातों को अंजाम दिया गया. इसके बाद न्यूयॉर्क, शिकागो, अटलांटा आदि शहरों में लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया गया था.

VIDEO

Trending news