अफगान राष्ट्रपति ने भारत की यात्रा में कुछ घंटों की देर की

अफगान राष्ट्रपति ने अफगानिस्तान में नाटो कमांडर और शीर्ष अफगान सुरक्षा अधिकारियों के साथ एक आपात बैठक करने के लिए भारत की अपनी आधिकारिक यात्रा में आज कुछ घंटों की देर की।

काबुल : अफगान राष्ट्रपति ने अफगानिस्तान में नाटो कमांडर और शीर्ष अफगान सुरक्षा अधिकारियों के साथ एक आपात बैठक करने के लिए भारत की अपनी आधिकारिक यात्रा में आज कुछ घंटों की देर की।

राष्ट्रपति भवन के एक अधिकारी ने बताया कि अशरफ गनी के आज दोपहर भारत रवाना होने का कार्यक्रम था लेकिन वह अमेरिकी जनरल जॉन कैम्पबेल के साथ एक आपात सत्र में शरीक होने चले गए। फिलहाल कोई और ब्योरा उपलब्ध नहीं है।

तालिबान ने देश भर में अफगान सुरक्षा बलों के खिलाफ अपने हमले तेज कर दिए हैं और पिछले हफ्ते गर्मियों के दौरान सालाना चलाए जाने वाले अपने अभियान को शुरू किया था जो पहाड़ों पर बर्फ पिघलने और मौसम गर्म होने के साथ-साथ चलता है।

हालांकि, दिसंबर की समाप्ति पर विदेशी सैनिकों को वापस बुलाये जाने के बाद यह पहला साल है जब अफगान सुरक्षा बलों को लड़ाई के मैदान में अकेले ही चरमपंथियों का सामना करना होगा।

उत्तरी कुंदुज प्रांत में पिछले तीन दिनों में बड़े पैमान पर तालिबान हमला हुआ है। प्रांत के गवर्नर उमर सफी ने बताया कि कुमुक पहुंच गया है और कुंदुज के तीन हिस्सों में अभियान चलाने की योजना है। सफी ने बताया कि तीन दिनों के संघर्ष में दोनों ओर नुकसान हुआ है।

इस बीच दक्षिणी जाबुल प्रांत में एक मकान के अंदर हुए बम विस्फोट में कम से कम पांच नागरिकों की मौत हो गई। वहीं, पूर्वी खोस्त प्रांत में सड़क किनारे रखे एक बम के फटने से तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए।