ट्रंप ने मास्क पहनने को 'देशभक्ति' से जोड़ा, खुद की प्रशंसा करते हुए ये बात भी कही

कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से बचने के लिए लंबे समय तक मास्क (Mask) पहनने से परहेज करते आ रहे अमेरिका (Ameica) के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप (Donald Trump) अब इसके सबसे बड़े समर्थक बन गए हैं. 

ट्रंप ने मास्क पहनने को 'देशभक्ति' से जोड़ा, खुद की प्रशंसा करते हुए ये बात भी कही
डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से बचने के लिए लंबे समय तक मास्क (Mask) पहनने से परहेज करते आ रहे अमेरिका (Ameica) के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप (Donald Trump) अब इसके सबसे बड़े समर्थक बन गए हैं. ट्रंप ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि कोरोना महामारी के दौर में मास्क पहनना देशभक्ति का सबसे बड़ा सबूत है. अपनी खुद की प्रशंसा करते हुए ट्रंप ने कहा कि इस मामले में उनसे बड़ा देशभक्त कोई नहीं हो सकता. वे अमेरिकन लोगों के लोकप्रिय राष्ट्रपति हैं और मास्क पहनकर अपनी जिम्मेदारी पूरी कर रहे हैं.

 

दरअसल अमेरिका के कई दक्षिणी और पश्चिमी राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं. इनमें से कई ट्रंप की रिपब्लिक पार्टी के गढ़ हैं. इन सब कारणों ने ट्रंप को अपनी धुन बदलने पर मजबूर कर दिया है. वे 11 जुलाई को पहली बार सार्वजनिक रूप से मास्क में दिखाई दिए थे. वहीं उनके प्रतिद्वंदी डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बिडेन लगातार सार्वजनिक कार्यक्रमों में मास्क पहनते आ रहे हैं.

अब ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है कि कोरोना से बचने के लिए मास्क पहनना देशभक्ति की निशानी है. इस मामले में उनसे बड़ा देशभक्त कोई नहीं है. उन्होंने कहा कि अपने संयुक्त प्रयासों से इस अदृश्य चाईनीज वायरस को हरा देंगे. ट्रंप ने कहा कि कई लोगों का कहना है कि जब आप सामाजिक दूरी नहीं बना सकते तो मास्क पहनना एक अच्छा विकल्प बन जाता है.

बता दें कि डोनल्ड ट्रंप पिछले कई महीनों से कोरोनो वायरस से निपटने के लिए मास्क पहनने को प्रोत्साहित करने से इनकार कर रहे थे. उन्होंने सार्वजनिक रूप से फेस मास्क के इस्तेमाल पर किए गए ट्वीटों में मिले-जुले संदेशों का इस्तेमाल किया. जिससे लोग समझ ही नहीं पाए कि वे फेस मास्क का समर्थन कर रहे हैं या विरोध. ट्रंप समर्थकों का मानना था कि मास्क पहनना कमजोरी की निशानी है. इसलिए ट्रंप बार बार फेस मास्क पहनकर रैलियों में जा रहे जो बिडेन का मजाक उड़ा रहे थे और सार्वजनिक कार्यक्रमों में बिना मास्क के भाग ले रहे थे.

अब ट्रंप के नए अवतार के बाद अमेरिका में मास्क पहनने के लिए जागरूकता बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. अमेरिका के स्वास्थ्य महकमों और ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी ने भी फेस मास्क पहने जाने का समर्थन किया है. उनका मानना है कि सार्वजनिक जगहों पर फेस मास्क पहनने से इस कोरोना महामारी को हराया जा सकता है.