Breaking News
  • रिया और शाविक की जमानत याचिका पर सुनवाई 29 सितंबर तक टली

दुनिया को कोरोना देने वाले चीन में एक और वायरस का कहर, अब तक 7 की मौत

कोरोना संकट (CoronaVirus) के बीच चीन से आई खबर ने दुनिया को एक बार फिर से डरा दिया है. चीन में एक और संक्रामक बीमारी पैर फैला रही है. अब तक इस बीमारी से सात लोगों की मौत हो चुकी है और 60 से अधिक संक्रमित बताये जा रहे हैं. चीन के सरकारी मीडिया ने बुधवार को इसकी जानकारी दी.

दुनिया को कोरोना देने वाले चीन में एक और वायरस का कहर, अब तक 7 की मौत

बीजिंग: कोरोना संकट (Coronavirus) के बीच चीन से आई खबर ने दुनिया को एक बार फिर से डरा दिया है. चीन में एक और संक्रामक बीमारी पैर फैला रही है. अब तक इस बीमारी से सात लोगों की मौत हो चुकी है और 60 से अधिक संक्रमित बताये जा रहे हैं.

चीन (China) के सरकारी मीडिया ने बुधवार को इसकी जानकारी दी. टिक-जनित इस बीमारी के एक व्यक्ति से दूसरे में फैलाने की आशंका को देखते हुए चीन में अलर्ट जारी किया गया है. वैसे, पूर्वी चीन के जिआंगसु प्रांत में इस साल की पहली छमाही में 37 से ज्यादा लोग SFTS वायरस के संपर्क में आए थे. इसके बाद 23 लोग पूर्वी चीन के अनहुई प्रांत में संक्रमित पाए गए और अब यह आंकड़ा बढ़ता जा रहा है.

ये भी पढ़ें: कोरोना से ठीक हुए 90% मरीजों के फेफड़े खराब, अधिकांश इस बीमारी से हुए ग्रसित

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, वायरस से पीड़ित एक महिला में पहले बुखार, खांसी जैसे लक्षण दिखाई दिए. इसके बाद जांच में डॉक्टरों ने पाया कि उसके शरीर में ल्यूकोसाइट है और प्लेटलेट कम हो गए हैं. हालांकि, एक महीने के इलाज के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा है कि वायरस के कारण अब तक अनहुई और पूर्वी चीन के झेजियांग प्रांत में कम से कम सात लोगों की मौत हुई. 

वैसे, SFTS वायरस चीन के लिए नया नहीं है. चीन में 2011 में इसका पता चला था, लेकिन कोरोना संकट के बीच जिस तरह से इसके नए मामले सामने आ रहे हैं उसने सभी की चिंता बढ़ा दी है. वैज्ञानिकों का मानना है कि यह संक्रमण पशुओं के शरीर पर चिपकने वाले टिक जैसे कीड़े से मनुष्य में फैल सकता है और फिर इसका तेजी से प्रसार हो सकता है.

झेजियांग विश्वविद्यालय (Zhejiang University) से संबद्ध अस्पताल के डॉक्टर शेंग जिफांग (Sheng Jifang) ने कहा कि SFTS वायरस के एक व्यक्ति से दूसरे में फैलाने की आशंका को दरकिनार नहीं किया जा सकता. संक्रमित मरीज दूसरों में वायरस का प्रसार कर सकता है.  

LIVE TV