Asteroid ने की पृथ्वी के महाद्वीपों के निर्माण में मदद: Research

शोध में पाया गया कि इन चट्टानों में ज्यादातर बेसॉल्ट थी और क्षुद्रग्रहों के प्रभाव से इस तरह की सतह पर काफी असर पड़ा

Asteroid ने की पृथ्वी के महाद्वीपों के निर्माण में मदद: Research
रिसर्च में कहा गया है कि ये चट्टानें सिलिका युक्त थी जो हमारे महाद्वीपों के निर्माण के लिए अनिवार्य होती हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

जोहान्सबर्गः अंतरिक्ष में करीब 3.8 करोड़ वर्ष पहले क्षुद्रग्रहों (Asteroid) द्वारा पृथ्वी पर भारी बमवर्षा करने से हमारे ग्रह पर शुरुआती परत बनी जिसने बाद में महाद्वीपों को जन्म दिया. दक्षिण अफ्रीका के विटवाटर्सरैंड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक बयान में कहा कि हेडियाइयोन के नाम से पहचानी जाने वाली अवधि में क्षुद्रग्रहों ने हमारे ग्रह पृथ्वी पर लगातार बमबारी की जिससे उसकी सतह की चट्टानें बड़ी मात्रा में टूटी.

ग्रहों की टक्कर की जिस घटना से हुई चंद्रमा की उत्पत्ति, उसी से पृथ्वी पर आया जीवन: स्टडी

शोध में पाया गया कि इन चट्टानों में ज्यादातर बेसॉल्ट थी और क्षुद्रग्रहों (Asteroid) के प्रभाव से इस तरह की सतह पर काफी असर पड़ा. बेसॉल्ट एक तरह की बहिर्भेदी आग्नेय चट्टान होती है. ये चट्टानें हजारों किलोमीटर मोटी थी और इनका व्यास हजारों किलोमीटर का था. यह शोध पत्रिका नेचर कम्युनिकेशंस में प्रकाशित हुआ है.

सावधान, यहां छह गुना तेजी से पिघल रही है बर्फ, दुनिया के लिए बनेगी खतरा!

विश्वविद्यालय के प्रोफेसर राइस लैत्यिपोव ने कहा, ‘‘अगर आप जानना चाहते हैं कि उस समय पृथ्वी की सतह कैसी दिखती थी तो आप बस चंद्रमा की सतह देखें जो बड़ी संख्या में विस्फोटों से हुए खड्डों से पटी हुई है.’’ ये चट्टानें सिलिका युक्त थी जो हमारे महाद्वीपों के निर्माण के लिए अनिवार्य होती हैं.

(इनपुटः भाषा)